छत्तीसगढ़

अनपढ़ मंत्री बने कवासी लखमा को लेकर प्रियंका गांधी ने कही ये बात, पढ़-लिख नहीं सकते मगर एक ईमानदार और समझदार नेता हैं

रायपुर। छत्तीसगढ़ में भूपेश मंत्रिमंडल की गठन के बाद कोंटा विधायक व मंत्री कवासी लखमा अनपढ़ होने की वजह से सुर्खियों में बने हुए है। राहुल गांधी की बहन प्रियंका गांधी ने कवासी को लेकर एक फेसबुक पोस्ट किया है। जिसमें लिखा है कि छत्तीसगढ़ के कोंटा से जीते कवासी लखमा पढ़-लिख नहीं सकते, मगर एक ईमानदार और समझदार नेता हैं। जो लोगों के बड़े काम आते रहे हैं और 20 साल से विधायक है। राहुल गांधी ने अच्छे लोगों को पहचाना है और उन्हें राज्य के मंत्रिमंडल में जगह दिया है।

ये लिखा है पोस्ट में…
#छत्तीसगढ़ के कोंटा से जीते कवासी लखमा पढ़-लिख नहीं सकते मगर एक ईमानदार और समझदार नेता हैं जो लोगों के बड़े काम आते रहे हैं और 20 साल से विधायक है।

ऐसे अच्छे लोगों को #राहुलगांधी ने पहचाना और अब राज्य के #मंत्रीमंडल में जगह भी दी है | एक अच्छे लीडर की यही पहचान है जो ईमान्दार लोगों को पहचाने और ऊँहे आगे की पंक्ति मे जगह दे।

बता दें कि छत्तीसगढ़ में भूपेश सरकार में नौ मंत्रियों ने मंत्री पद की शपथ ली। लेकिन कोंटा के विधायक कवासी लखमा अपना शपथ तक नहीं पढ़ पाए। जिस वजह से राजयपाल आनंदीबेन पटेल ने उन्हें शपथ पूरी कराई। राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने पूरी शपथ पढ़ी और मंत्री कवासी लखमा दौहराते रहे। मूल रूप से किसानी का काम करने वाले लखमा राज्य के गठन के बाद से ही लगातार चुनाव जीतते रहे हैं।

Spread the love