January 16, 2021

Suyashgram.com

मासिक पत्रिका एवं वेब न्यूज़ पोर्टल

अनियमित हड़ताल के नेताओं पर बलवा का अपराध दर्ज, हड़ताल खत्म कराने जल्द हो सकती है गिरफ्तारी

रायपुर। एसजी न्यूज़। प्रगतिशील कर्मचारी महासंघ के बैनर तले अनियमित कर्मचारियों की हड़ताल 16 जुलाई से चल रही है। महासंघ ने 23 जुलाई को राज्य स्तरीय हड़ताल का आह्वान किया था। जिसके लिए पूरे प्रदेश से एक लाख अनियमित कर्मचारी रायपुर पहुचे हैं।

23 जुलाई को हुए प्रदर्शन के बाद पुलिस ने संघ के नेताओं ऊपर शाम 7:30 पर थाने में बलवा का अपराध दर्ज कर लिया है। पुलिस सूत्रों से प्राप्त खबर के अनुसार हड़ताल को कमजोर करने और खत्म करने की दिशा में जल्द ही नेताओं की गिरफ्तारी होगी।

इन नेताओं के ऊपर बलवा का अपराध हुआ दर्ज
अनिल कुमार देवांगन, राधेश्याम देवांगन, अजीत कोशरिया,
संतोष कुमार देवांगन, कविता कुमार निर्मलकर, रुकमणी बंजारे, शकुन्तला मन्नाडे, बलराम एवं अन्य के खिलाफ पुलिस दंड संहिता की धारा 147, 341,188 के तहत थाना गोलबाजार में अपराध दर्ज किया गया गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार रात को 5 लोगों की गिरफ्तारी हुई थी जिन्हें देर रात छोड़ दिया गया था।

बता दें कि महासंघ द्वारा 23 जुलाई को मौन रैली का आयोजन किया गया था, लेकिन भारी संख्या को देखते हुए प्रशासन द्वारा उन्हें अनुमति नहीं दी गई थी, साथ ही संबधित क्षेत्रों में धारा 144 लगा दी गई थी। जिसके बाद आक्रोशित संघ ने अचानक बिना अनुमति के रैली निकलने का निर्णय ले लिया और पुलिस के लिए स्थिति नियंत्रण में करना मुश्किल हो गया है। अचानक रैली की शक्ल में बूढा तालाब से निकले लाखों की संख्या में ये हड़ताली पुलिस के लिए संकट खड़ा कर दिए थे। इतनी बडी संख्या रैली को नियंत्रित करने पुलिस ने व्यवस्था नही बना रखी थी। मिली जानकारी के अनुसार घंटो फूल चौक, तात्यापारा से लेकर जयस्तंभ चौक और आसपास का इलाका घंटों जाम रहा है।

Spread the love

You may have missed