March 8, 2021

Suyashgram.com

मासिक पत्रिका एवं वेब न्यूज़ पोर्टल

अब ट्रेन से नहीं कटेंगे जानवर, यहां रेलवे बनाएगा 96 किमी लंबाई की दीवार

बिलासपुर। अब ट्रेन की चपेट में आने से बेजुबा जानवरों की जान नहीं जाएगी। इसके लिए दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे अपने तीनों मंडल में 96 किमी लंबी बाउंड्रीवाल खड़ी करेगी। दीवार संवेदनशील सेक्शन में बनाई जाएगी, जहां ऐसी घटनाएं अधिक होती हैं। कैटल रन ओवर की घटना में न केवल मवेशी की जान जान जाती है बलिक इसका खामियाजा रेलवे व ट्रेन में सफर करने वाले यात्रियों को भी भुगतना पड़ता है। अक्सर इस तरह की घटना होने के बाद इंजन में खराबी आ जाती है।

इसे देखते हुए जोन ने संवेदनशील सेक्शन की पटरियों को दोनों ओर से बाउंड्रीवाल से घेरने की योजना बनाई। तीनों रेल मंडल को मिलाकर 96 किमी के एरिया में घेराबंदी करने के लिए बजट स्वीकृत हो गया है। वर्तमान में ऐसे सेक्शन की पहचान की जा रही है, जहां कैटल रन ओवर(मवेशियों के चपेट में आने की घटना) अधिक होता है।

सबसे ज्यादा आवश्यकता रायपुर रेल मंडल में है। यही वजह है कि सर्वाधिक बाउंड्रीवाल इस मंडल पर बनाई जाएगी। इसके लिए आरडीएसओ, लखनऊ ने भी मंजूरी दी है। उनका साफ निर्देश है कि बाउंड्रीवाल क्रांकीट की होनी चाहिए। इस स्थिति में चाहकर भी असामाजिक तत्व इसे क्षति नहीं पहुंचा पाएंगे।

हाई स्पीड ट्रेन चलाने में सुविधाजनक

बाउंड्रीवाल निर्माण के बाद प्रस्तावित हाई स्पीड ट्रेन चलाने में भी सुविधा होगी। बिलासपुर से नागपुर तक चलने वाली इस ट्रेन के लिए पटरियोंं को दोनों ओर से सुरक्षित करना जरूरी है। बाउंड्रीवाल इस बात को ध्यान में रखकर तैयार किया जाएगा। बाद में पूरे एरिया को इस योजना से जोड़कर सुरक्षित किया जाएगा। हाई स्पीड ट्रेन 160 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से दौड़ेगी।

दो करोड़ होंगे खर्च

अलग- अलग सेक्शन पर बनने वाली इस बाउंड्रीवाल के लिए रेलवे लगभग दो करोड़ रुपये खर्च करेगी। यह राशि स्वीकृत हो चुकी है। साथ ही दो वर्ष के भीतर निर्माण कार्य पूरा करने का लक्ष्य है।

Spread the love

You may have missed