January 23, 2021

Suyashgram.com

मासिक पत्रिका एवं वेब न्यूज़ पोर्टल

आउटसोर्स से बस्तर और सरगुजा में भर्ती हुए शिक्षक भूख हड़ताल में, कई की बिगड़ी हालात, रायपुर मेडिकल कालेज में हुए भर्ती

रायपुर। एसजी न्यूज। डिलेश्वर देवांगन। बस्तर एवं सरगुजा में आउटसोर्स भर्ती किये गए शिक्षको द्वारा क्रमिक आमरण अनशन रायपुर के ईंदगाह भाटा में 18 जून से क्रमिक आमरण अनशन किया जा रहा है।

ज्ञात हो कि आउटसोर्स से भरे गए इस शिक्षकों को विद्द्यामितान कहते है। अनशनकारियों की बिगड़ती हालात को देखकर कई को रायपुर के आम्बेडकर अस्पताल में अब तक भर्ती कराया जा चुका है, जिसमें कुछ विद्दामितान का स्थिति गंभीर बताई जा रही है।

इन शिक्षको का कहना है कि वे बस्तर एवं सरगुजा के अतिसंवेदनशील क्षेत्र में सेवा दे रहे है, जहाँ पिछले 10 वर्षो से शिक्षाकर्मी भर्ती के लिये विज्ञापन निकाला गया परंतु उन नक्सली क्षेत्र में कोई भी उपयुक्त शिक्षक अब तक नही मिला। इसलिए उन स्थानो में विद्दामितान की भर्ती प्लेसमेंट ऐजेंसीयो द्वारा करायी गई। वर्तमान में छ.ग. के लगभग सभी जिलो में इनकी भर्ती करायी गई है।जिनकी संख्या लगभग 6000 आंकी गई है। इन शिक्षकों का आरोप है कि प्लेसमेंट ऐसेंजी द्वारा इनका शोषण किया जा रहा है क्योंकि शासन द्वारा 28 हजार की मोटी रकम कंपनी को दिया जाता है, परंतु कंपनी द्वारा मात्र 15 हजार ही प्रत्येक शिक्षको को मिल पा रहा है तथा वेतन भी मात्र 9 महीने का दिया जाता है और यदि कोई स्थाई शिक्षक उनके स्थान पर आ जाने पर सेवा स्वत: ही समाप्त कर दिया जाता है। जिसके चलते इनके परिवार को आर्थिक एवं मानसिक प्रताड़ना का सामना करना पड़ता है। ये प्लेसमेंट कंपनी को बीच से हटाकर शिक्षाकर्मी में संविलियन की माँग कर रहे है। इनका कहना है कि ये स्नातक, स्नात्कोत्तर एवं बी.एड. धारी है। सबसे बड़ी बात यह है कि ये छत्तीसगढ़ के मूल निवासी है। शिक्षाकर्मी बनाने के लिए सभी पात्रता रखते है।

Spread the love

You may have missed