January 23, 2021

Suyashgram.com

मासिक पत्रिका एवं वेब न्यूज़ पोर्टल

आरबीआई जारी करेगा 100 रुपये का नया नोट, ऐसा है डिजाइन

दिल्ली। एसजी न्यूज। देश का केंद्रीय बैंक आरबीआई जल्द ही 100 रुपये (new 100 rupee note) का नया नोट जारी करेगा। इस नोट पर आरबीआई के गवर्नर उर्जित पटेल के दस्तखत होंगे। नोट के पीछे ‘रानी की वाव’ की तस्वीर है। इस तस्वीर के जरिए भारत की सांस्कृतिक विरासत को साझा किया जा रहा है। इस नोट का रंग लैवेंडर है। नोट पर अन्य डिजाइन, जियोमैट्रिक पैटर्न बने हुए हैं। नोट का साइज 66 एमएम गुणा 142एमएम है।
बता दें कि आरबीआई ने साफ कर दिया है कि नए नोट के जारी होने के साथ ही पुराने नोट की वैधता बरकरार है। नए बैंक नोट जारी होने के साथ ही इन्हीं धीमे-धीमे प्रचलन में लाया जाएगा।

100 रुपये के नए नोट की खास बातें इस प्रकार हैं
जहां पर 100 अंक लिखा हुआ है वहां (जांच में) पर आर-पार देखा जा सकेगा, यानि मूल्यवर्ग अंक 100 के साथ आर-पार मिलान है.
100 अंक छिपा भी हुआ है.
देवनागरी में भी 100 अंक लिखा हुआ है.
महात्मा गांधी की तस्वीर मध्य में लगी हुई है.
छोटे शब्द जैसे आरबीआई, भारत, इंडिया और 100 लिखे गए हैं.
नोट को टेढ़ा करने में उसके धागे का हरा रंग नीला हो जाता है. इस धागे में भारत और RBI लिखा हुआ है.
आरबीआई के गवर्टन का गारंटी देने वाला कथन महात्मा गांधी की तस्वीर के दाहिने ओर लिखा हुआ है।
नोट के दाहिने हिस्से में अशोक स्तम्भ है।
जैसा ही हाल में जारी किए गए नोट में नंबरों को छोटे से बड़ा किया गया है. वैसे ही इस नोट में भी किया गया है.
विशेष प्रतिभा वाले लोगों के लिए खास इंतजाम किए गए हैं। दृष्टिबाधित लोगों के लिए इंटैलियो या उभरी हुई छपाई में महात्मा गांधी का चित्र, अशोक स्तंभ प्रतीक, उभरे हुए त्रिकोणीय पहचान चिन्ह माइक्रो-टैक्स्ट 100 के साथ, चार कोणीय ब्लीड रेखाएं हैं।
नोट के पीछे
नोट छापने का वर्ष अंकित है.
स्वच्छ भारत का लोगो नारे के साथ दिया गया है।
भाषा का पैनल यथावत रखा गया है।
रानी की वाव का चित्र है।
देवनागरी लिपी में 100 अंक लिखा गया।

छपी है गुजरात के रानी की वाव की फोटो

भारतीय रिजर्व बैंक ने 100 रुपए का नया नोट जो जारी किया है उसमें बैंगनी रंग के इस नए नोट में गुजरात के पाटन के प्रसिद्ध रानी की वाव का फोटो लगा है। नया नोट बैंगनी रंग का होगा। मौजूदा 100 रुपए का नोट भी चलता रहेगा। रानी की वाव गुजरात के पाटन में स्थित प्रसिद्ध बावड़ी यानी सीढ़ीदार कुआं है। यूनेस्को के इसे 2014 में वर्ल्ड हेरिटेज साइट यानी विश्व विरासत स्थल लिस्ट में शामिल किया था।

अब तक 100 को नोट पर गांधीजी की तस्वीर होती थी और समय समय पर उसके पीछे वाली तस्वीरें बदलती रही थीं, कभी हाथियों की तस्वीर होती थी, तो कभी हिमालय पर्वत का दृश्य होता था। लेकिन इस बार गांधीजी के फोटो वाली साइड के दूसरी तरफ एक ऐसा फोटो छापा जा रहा है, जो भारत के नोट को पूरी तरह से गुजराती रंग में सराबोर कर देगा। ये तस्वीर होगी ‘रानी की वाव’ की, जो गुजरात के पाटन जिले में है।

रानी की वाब या वाबड़ी को चालुक्य राजा भीमदेव प्रथम की पत्नी उदयमती ने उसकी याद में 11 वीं शताब्दी में बनवाया गया था। कहा जाता है कि तब इसे सरस्वती नदी के तट पर बनाया गया था, गुजरात में ऐसी कई पानी की वाबड़ियां आज भी मौजूद हैं।

Spread the love

You may have missed