May 9, 2021

Suyashgram.com

मासिक पत्रिका एवं वेब न्यूज़ पोर्टल

रेणुका सिंह एवं विन्धेश्वर शरण सिंह देव

एक्सक्लूसिव एनालिसिस: केंद्रीय मंत्री के गृह जिला को ही युवा नेता ने कर दिया भाजपा…. मुक्त सभी पदों पर कांग्रेस हुई सत्तासीन….

ब्यास मुनि द्विवेदी, रायपुर/सूरजपुर, 15 फरवरी 2020. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूरे देश में कांग्रेस मुक्त भारत का नारा दिया था. लेकिन उन्हें पता नहीं था कि जिस जिला में उनकी प्रदेश की केंद्रीय मंत्री रहती हैं, उसी जिला को एक युवा कांग्रेसी नेता ने पूरी तरह से पिछले 6 सालों में भाजपा मुक्त जिला बना दिया।

जी हां आप सही समझ रहे हैं हम बात कर रहे हैं. छत्तीसगढ़ के सरगुजा संभाग के सूरजपुर जिला की, ये ऐसा जिला है जो राजनीतिक तौर पर हमेशा छत्तीसगढ़ में अपनी पहचान बनाए रखा है. भाजपा हो या कांग्रेस इस जिला से जीतने वाले नेता सरकार में मंत्री जरूर बने हैं. राज्य बनने के बाद तुलेश्वर सिंह ने कांग्रेस पार्टी ज्वाइन करके जोगी की सरकार में मंत्री बने. उसके बाद सत्ता पलटी तो इसी जिला से रेणुका सिंह ने तुलेश्वर सिंह को हराकर मंत्री बनी. इसी जिला से प्रेमसाय टेकाम भी मंत्री रहे और वर्तमान में भी मंत्री हैं. इसी जिला से पूर्व सरकार में रामसेवक पैकरा गृहमंत्री रहे हैं. अविभाजित मध्यप्रदेश में भी खेलसाय यही से जीतकर चुके हैं.

लोकसभा 2019 के चुनाव में भाजपा ने पूरे छत्तीसगढ़ में बड़ी शानदार 11 में से 10 सीट जीतकर परचम लहराया था. राज्य में पांच में से 3 सीट राजयसभा की भी भाजपा के पास हैं जिसमे दिग्गज आदिवासी नेता रामविचार नेताम, पार्टी राष्ट्रीय महासचिव सरोज पांडेय एवं जशपुर राजघराने से रणविजय सिंह देव सांसद हैं. कुल 13 सांसद भाजपा के पास छत्तीसगढ़ में है. सभी में सबसे योग्य सांसद मंत्री के लिए पार्टी ने रेणुका सिंह को माना और रेणुका सिंह को केंद्र में मंत्री बनाया गया. आज की दशा में सूरजपुर ऐसा जिला है जहां पर सभी नगर पालिका, नगर पंचायत, जिला पंचायत, जनपद पंचायत एवं विधायक कांग्रेस के सत्तासीन है.

अगर आंकड़ों में देखें तो इस जिला में….

3 विधानसभा आती हैं पहला प्रेम नगर जिसमें खेल शाय सिंह विधायक व सरगुजा विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष भी हैं, दूसरा भटगांव विधानसभा है जहां से पारसनाथ राजवाड़े विधायक हैं एवं तीसरा प्रतापपुर विधानसभा है जहां से डॉक्टर प्रेमसाय सिंह विधायक और वर्तमान में मंत्री भी हैं. अर्थात जिले की तीनों विधानसभा में कांग्रेस का कब्जा है.

जिला पंचायत में कांग्रेस के सदस्य सदस्य बरी बहुमत से जीतकर आये और जिला पंचायत अध्यक्ष कांग्रेस का चुना गया.

जनपद की बात करें तो सूरजपुर जिला में 6 जनपद हैं. रामानुजनगर, प्रेमनगर, सूरजपुर भैयाथान, उड़ेगी एवं प्रतापपुर। इन सभी जनपद में कांग्रेस के जनपद अध्यक्ष चयनित हुए हैं.

नगर निकाय में जिला की एक नगर पालिका और चार नगर पंचायत में से सभी में कांग्रेस के अध्यक्ष का कब्जा हुआ है. इस तरह अगर देखें तो इस पूरे जिले में विधानसभा, जनपद, जिला व नगर निकाय सभी में कांग्रेस ने एकतरफा कब्जा किया है.

कौन है इस जीत के सूत्रधार ??
सूरजपुर जिला के युवा चेहरा विधेश्वर शरण सिंह देव ने 2013 में जिला कांग्रेस अध्यक्ष का पद संभाला था. ज्ञात हो कि इसके पहले इनके पिता स्वर्गीय यू. एस. सिंह देव ही जिला अध्यक्ष थे. वे अविभाजित सरगुजा जिला के अध्यक्ष भी रहे और सूरजपुर जिला बनने के बाद जिला अध्यक्ष रहे है.

विधेश्वर शरण सिंह देव सरल सहज और अपनी सभ्यता के लिए पूरे जिला में पहचाने जाते हैं. उनकी मीठी वाणी से हर कोई प्रभावित होता है. अपनी खेती किसानी में मस्त सरगुजा राजपरिवार से जुड़े विधेश्वर शरण सिंह देव ने अपनी 6 साल की अथक मेहनत से सूरजपुर जिला को पूरी तरह से भाजपा मुक्त कर दिया है.

इस जिला में 2 विधानसभा सामान्य हैं प्रेम नगर और भटगांव। प्रेम नगर से 2013 की विधानसभा चुनाव में विधेश्वर शरण सिंह देव को विधानसभा का उम्मीदवार बनाया जाना लगभग तय था. लेकिन इन्होंने पार्टी के लिए अपनी दावेदारी वापस ले ली थी. 2019 के चुनाव में भी इनकी दावेदारी प्रबल थी लेकिन फिर से संगठन को मजबूत करने और पार्टी को जिताने के लिए इन्होंने अपना नाम पीछे कर लिया। लगातार संगठन के लिए पूरे मेहनत से काम करते हुए पूरे जिला में भाजपा को सत्ता से कोसों दूर कर दिया। जबकि छत्तीसगढ़ की एकमात्र भाजपा के केन्दीय मंत्री मंत्री इसी जिला में बैठी रही और अपनी पूरी ताकत लगा कर एक भी अध्यक्ष जनपद, जिला, नगर निकाय कहीं भी नहीं बना पाईं।

इनके नजदीकी रामानुजनगर निवासी राकेस गुप्ता बताते है कि “बिन्की बाबा (विधेश्वर शरण सिंह देव) हर किसी से सहज मिलते हैं सभी से उनका मित्रवत व्यवहार रहता है. राजघराने से ताल्लुकात होने के बाद भी एक बच्चे से लेकर बूढ़े तक सभी को ससम्मान बात करते हैं. बिन्की बाबा हमेसा कहते हैं काम ऐसा करें कि बोलना न पड़े, काम खुद बोले….। वे जिला से लेकर प्रत्येक पंचायत तक का हिसाब रखते हैं. वह स्वयं एक आखिरी पंक्ति के कार्यकर्ता की तरह जमीन में उतरकर करते हैं. यही वजह है आज पार्टी जिला में इतनी मजबूत है”

प्रचार के दौरान बिन्की बाबा

चुनाव जीतकर आये पंचायत प्रतिनिधि जब पहुंचे मिलने घर
Spread the love