छत्तीसगढ़

कभी स्कूल नहीं गए लखमा, राज्यपाल ने पढ़ी पूरी शपथ, दोहराते रहे मंत्री

रायपुर। भूपेश बघेल मंत्रिमंडल के कवासी लखमा ऐसे मंत्री हैं, जिन्होंने कभी स्कूल का मुंह नहीं देखा है। वे मात्र साक्षर हैं। अन्य मंत्रियों को शपथ दिलाने के लिए राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने औपचारिक रूप से सिर्फ ‘मैं’ कहा और इसके बाद मंत्री खुद शपथ पढ़ते रहे, जबकि कवासी लखमा के लिए एक-एक शब्द पढ़ना पड़ा। लखमा राज्यपाल के शब्दों को दोहराते रहे।

कवासी लखमा सुकमा जिले के ग्राम नागारास निवासी हैं। उनके पिता का नाम कवासी हड़मा है। वे चौथी बार विधायक निर्वाचित हुए हैं। वर्तमान में लखमा कोंटा निर्वाचन क्षेत्र से निर्वाचित हुए हैं।

लखमा 2013 में हुए झीरम घाटी हमले में बाल-बाल बच गए थे। शपथ ग्रहण के बाद सभी मंत्री और मुख्यमंत्री मंच के सामने खड़े हुए और हाथ उठाकर समर्थकों का अभिवादन किया। शपथ लेने के बाद किसी भी मंत्री ने किसी नेता का चरण स्पर्श आदि नहीं किया।

हर मंत्री शपथ के बाद पीछे घूमकर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का अभिवादन करता रहा। जैसे ही मंत्री भूपेश की ओर घूमते वे इशारा करते आगे जाइये। फिर मंत्री मंच के दूसरे ओर रखे मेज पर जाकर पदभार ग्रहण करने की फाइल पर दस्तखत करते।

Spread the love