January 24, 2021

Suyashgram.com

मासिक पत्रिका एवं वेब न्यूज़ पोर्टल

कोरिया कुमार पंचतत्व में विलीन, भतीजी अम्बिका ने दी मुखाग्नि, जनता देख रही अम्बिका को राजनीति उत्तराधिकारी के रूप में

कोरिया: छत्तीसगढ़ में राजनीति के पुरोद्धा कहे जाने वाले कोरिया कुमार स्व रामचंद्रदेव सिंह का स्वर्णिम युग समाप्त हो गया। शनिवार को उनकी भतीजी श्रीमती अम्बिका सिंहदेव ने मुखाग्नि दी। कोरिया महल में अंतिम दर्शन के लिए भारी भीड़ जमा हुई थी। प्रदेश के गृह मंत्री समेत अनेक नेता भी एकत्र हुए थे। सभी ने नम आंखों से कोरिया कुमार को अंतिम विदाई दी। यहां कोरिया महल का राजनीति में बड़ा कद था। स्वच्छ और ईमानदार राजनीति के लिए कोरिया कुमार को इतिहास सदैव याद रखेगा।

बता दें कि एक ऐसा समय आया जब स्वयं कोरिया कुमार ने चुनाव लड़ने से यह कहकर मना कर दिए थे कि अब राजनीति हमारे लायक नही रही। फिर भी लोगों की निगाह उन पर बनी रहती थी।

जन समूह में सबसे बड़ा सवाल चर्चा में रहा कोरिया रियासत के साथ राजनीतिक उत्तराधिकारी कौन होगा? हालांकि सभी की निगाहें अब श्रीमती अम्बिका सिंहदेव की तरफ है। जिस तरह वो कुमार के आखिरी क्षणों में पूरा कार्यभार सम्हाल रखा था यहां तक कि मुखाग्नि भी उन्होंने ही दिया है, इससे सभी यह आशा लगा रहे हैं कि वो राजनितिक विरासत को भी सम्हाल सकती हैं। उनके साथ लोगों की भावनाएं भी जुड़ चुकी हैं।

Spread the love

You may have missed