January 23, 2021

Suyashgram.com

मासिक पत्रिका एवं वेब न्यूज़ पोर्टल

छग शराबबंदी के लिए दो मासूमों बच्चों के साथ पति पत्नी 4 दिन से बैठे अनिश्चितकालीन धरने पर

बालोद। डिलेश्वर देवांगन। बहू और बेटियों की रक्षा के लिए जिले की एक सरपंच अपने दो मासूम बच्चियों वह अपनी पत्नी के साथ प्रदेश में शराबबंदी का बीड़ा उठाया और लगातार चार दिनों से धरने पर बैठे हैं। उनका कहना है कि हमारी मांग जब तक पूरी नहीं होगी हम अनिश्चितकालीन धरने पर इसी तरह बैठे रहेंगे।

बालोद दुर्ग मुख्य मार्ग पर ग्राम कचांदुर में पूर्व सांसद स्वर्गीय ताराचंद साहू की मूर्ति के नीचे समाज के हित व बेटियों की रक्षा के लिए गुजरात की तरह मॉडल राज्य बनाने हेतु एक सरपंच का परिवार छत्तीसगढ़ में शराबबंदी करने की मांग पर डटे हुए हैं। देवगहन सरपंच लोकेंद्र साहू का कहना है कि शराबबंदी के मामले में गुजरात एक मॉडल राज्य के रूप में पूरे भारत देश में अपनी पहचान बनाया है। जब गुजरात में पूर्णतः शराबबंदी हो सकती है तो छत्तीसगढ़ में भी होना चाहिए। वहीं उनकी पत्नी ने कहा कि हमारे द्वारा किए जा रहे धरना प्रदर्शन में समाज को आगे आने की जरूरत है। जब तक शराबबंदी नहीं होगी छत्तीसगढ़ की बेटियां कैसे बचेगी। आज अलग-अलग सड़क हादसों में अधिकतर शराब पीने वाले व्यक्ति ही शिकार होते हैं।

Spread the love

You may have missed