छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ के नए मंत्रियों का शपथ ग्रहण समारोह कल, भव्य तैयारियां अंतिम दौर में

रायपुर। छत्तीसगढ़ कांग्रेस सरकार के मंत्रिमंडल के सदस्यों का शपथ ग्रहण समारोह मंगलवार को राजधानी रायपुर के पुलिस परेड ग्राउंड में होने जा रहा है। इस समारोह को भव्य बनाने के लिए व्यापक स्तर पर तैयारियां की जा रही हैं। रविवार की देर रात तय किया गया कि यह आयोजन पुलिस परेड ग्राउंड में होगा। इसके बाद से सुरक्षा के कड़े इंतजाम और व्यवस्था के लिए पुलिस व पीडब्लूडी के अधिकारी वहां लगातार जुटे हुए हैं।

इस समारोह में मंत्रियों, विधायकों, आमंत्रित अतिथियों के अलावा कार्यकर्ता, विपक्ष के सदस्यों की बैठने की व्यवस्था की जा रही है। इसके लिए अलग-अलग पंडाल बनाए जा रहे हैं। शपथ ग्रहण समारोह 25 दिसंबर को सुबह 11 बजे से आयोजित होगा। मुख्यमंत्री सचिवालय आज राजभवन को नए मंत्रियों के नाम की सूची भेजेगा। राज्यपाल आनंदी बेन पटेल नव नियुक्त मंत्रियों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलवाएंगी।

राजभवन के अधिकारियों ने बताया कि समारोह में शामिल होने के लिए राज्यपाल आनंदीबेन पटेल आज शाम भोपाल से रायपुर पहुुंच रहीं हैं। समारोह के बाद वे भोपाल के लिए रवाना हो जाएंगी। इसके बाद मध्यप्रदेश में नवगठित मंत्रिमण्डल का शपथ ग्रहण होगा। कार्यक्रम में कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया, मल्लिकार्जुन खडगे, डॉ. अरुण उरांव और डॉ. चंदन यादव भी शामिल होंगे।

मंत्रियों के रूप में यह ले सकते हैं शपथ

कांग्रेस ने राज्य में मंत्री बनने जा रहे सभी 10 विधायकों के नाम तय कर लिए हैं, लेकिन शपथ ग्रहण समारोह से पहले इसे गोपनीय रखा गया है। बघेल सरकार में चार आदिवासी विधायकों को मंत्री की कुर्सी मिल सकती है। मंत्रिमंडल में दो ओबीसी और एक अल्पसंख्यक विधायक को लिया जाएगा। बचे हुए तीन पद सामान्य और एससी वर्ग में बंटेंगे। मंत्रियों का नाम लिफाफे से बाहर नहीं आने के कारण दावेदार विधायक ही नहीं, बल्कि उनके समर्थकों में भी बैचेनी बढ़ती जा रही है।

अब पूरे 13 मंत्रिमंडल के समीकरण की बात करें, तो अभी मुख्यमंत्री बघेल और मंत्री ताम्रध्वज साहू ओबीसी वर्ग से हैं। ओबीसी वर्ग से दो और विधायकों को लेने की चर्चा है। तब, मंत्रिमंडल की चार कुर्सी ओबीसी वर्ग को चली जाएगी। मंत्री टीएस सिंहदेव सामान्य वर्ग से हैं। सामान्य वर्ग से एक और विधायक को मंत्री बनाया जाएगा, तो पद इस वर्ग का हो जाएगा। चार आदिवासी मंत्रियों में ही एक महिला विधायक को लेने की चर्चा है। यह संभावना जताई जा रही है कि मंत्री के दो पद सामान्य और एक पद एससी वर्ग के विधायक को दिया जा सकता है।

Spread the love