छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ में हार के बाद भाजपाई रणनीतिकारों को फिर आई अटल बिहारी वाजपेयी की याद

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव में करारी हार के बाद भाजपाई रणनीतिकारों को एक बार फिर पूर्व प्रधानमंत्री व भारत रत्न अटलजी की याद आने लगी है। 25 दिसंबर को उनका जन्मदिन है। इस अवसर पर जिला मुख्यालय से लेकर बूथ स्तर तक कार्यक्रम का आयोजन करने प्रदेश भाजपा ने निर्देश जारी किए हैं।

पार्टी के रणनीतिकारों को चार महीने बाद होने वाले लोकसभा चुनाव को लेकर चिंता सताने लगी है। विधानसभा चुनाव में खोई प्रतिष्ठा को वापस पाने के लिए दिग्गजों ने मंथन शुरू कर दिया है। इसी कड़ी में पूर्व प्रधानमंत्री अटलबिहारी फिर याद आने लगे हैं।

रणनीतिकारों को लगने लगा है कि अटलजी की राज्य निर्माता की छवि को जमकर भुनाया जाए और लोकसभा चुनाव में सम्मानजनक स्थित हासिल की जाए । भाजपा प्रदेशाध्यक्ष धरमलाल कौशिक ने बताया कि 25 दिसंबर को पूर्व प्रधानमंत्री व भारत रत्न अटलजी का जन्मदिन है।

इस अवसर पर प्रदेशभर में कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। जिला मुख्यालय से लेकर पोलिंग बूथों में कार्यक्रम किए जाएंगे। इस संबंध में निर्देश दिए गए हैं।

पार्टी पदाधिकारियों ने बताया कि जिला मुख्यालय में आयोजित कार्यक्रम में प्रदेश से मंडल तथा बूथों में आयोजित कार्यक्रम में जिले से वक्ता के रूप में पदाधिकारी जाएंगे। वक्ताओं को अटलजी के संदर्भ में अपनी बात रखनी होगी। इसके अलावा छत्तीसगढ़ राज्य निर्माता के रूप में उनके द्वारा किए गए कार्य को विस्तार से बताना होगा।

Spread the love