March 8, 2021

Suyashgram.com

मासिक पत्रिका एवं वेब न्यूज़ पोर्टल

छत्तीसगढ़ : हाईकमान से चर्चा के बाद तय कर दिये जाएंगे मंत्रियों के नाम

रायपुर। मंत्रिमंडल के बचे हुए 10 पदों पर नाम फाइनल करने के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जल्द ही दिल्ली जाएंगे। हाईकमान से चर्चा करने के बाद ही मंत्रिमंडल की सूची तैयार की जाएगी। वैसे मंत्रिमंडल के लिए आधा दर्जन विधायकों का नाम तो अभी से तय माना जा रहा है, लेकिन दावेदार तो लगभग दो दर्जन विधायक हैं। पद से लगभग दोगुना ज्यादा दावेदार हैं, इसलिए भी दिल्ली से नाम फाइनल कराया जाएगा।

मंत्रिमंडल में मुख्यमंत्री समेत 13 पद हैं। मुख्यमंत्री बघेल के साथ मंत्री टीएस सिंहदेव और ताम्रध्वज साहू ने शपथ ली है। सिंहदेव और साहू मुख्यमंत्री की दौड़ में थे, इसलिए इनके नाम की घोषणा पहले ही कर दी गई। दौड़ में तो डॉ. चरणदास महंत भी शामिल थे, लेकिन महंत के नाम की अब तक मंत्री के लिए घोषणा नहीं हुई है। इस कारण पार्टी में यह चर्चा शुरू हो गई है कि महंत को विधानसभा अध्यक्ष बनाया जा सकता है।

मंत्रिमंडल के लिए जातिगत और क्षेत्रीय समीकरण का पूरा ध्यान रखा जाएगा, क्योंकि छह महीने बाद लोकसभा चुनाव होना है। अभी मुख्यमंत्री भूपेश खुद ओबीसी वर्ग से हैं। इसके अलावा मंत्री साहू भी ओबीसी वर्ग से ही हैं। ओबीसी में साहू और कुर्मी ज्यादा हैं। दोनों समाज के लोगों को संतुष्ट कर दिया गया है। उसके बाद भी एक नाम और जुड़ सकता है। सामान्य वर्ग से सिंहदेव मंत्री बन गए हैं।

सामान्य वर्ग से कम से कम दो-तीन और विधायक मंत्री बनाए जाएंगे। इसके बाद बचे हुए दूसरे वर्ग एससी, अल्पसंख्यक और आदिवासी विधायकों को मंत्रिमंडल में जगह मिलेगी। एससी आरक्षित सीटें कांग्रेस की बढ़ी हैं, इसलिए एससी वर्ग से दो, अल्पसंख्यक से एक विधायक मंत्री बन सकते हैं। आदिवासी विधायकों की संख्या ज्यादा है, इसलिए तीन विधायकों को मंत्री पद मिल सकता है।

दुर्ग, सरगुजा, रायपुर से हो सकते हैं तीन-तीन मंत्री

क्षेत्रीय आधार पर देखा जाए, तो पांचों संभाग से विधायक मंत्रिमंडल में होंगे। अभी दुर्ग संभाग से मुख्यमंत्री और मंत्री साहू हैं। सरगुजा संभाग से सिंहदेव हैं। माना यह जा रहा है कि मंत्रिमंडल में दुर्ग, सरगुजा व रायपुर संभाग से तीन-तीन विधायकों को लिया जा सकता है। बिलासपुर व बस्तर से दो-दो विधायक मंत्री बन सकते हैें।

युवा और महिला विधायक भी बनेंगे मंत्री

मंत्रिमंडल में युवा चेहरा और महिला विधायक को भी रखा जाएगा। युवा चेहरे में सबसे ऊपर उमेश पटेल का नाम है। महिला विधायक में अनिला भेड़िया और अनिता शर्मा का नाम चर्चा में है। अनिला भेड़िया महिला विधायकों में वरिष्ठ हैं, जबकि अनिता शर्मा को झीरम कांड में मारे गए योगेंद्र शर्मा की पत्नी होने के कारण मंत्री बनाया जा सकता है।

सिंहदेव को मिल सकता है वित्त विभाग

अभी सिंहदेव और साहू को विभाग नहीं मिले हैं। सिंहदेव को वित्त विभाग दिया जा सकता है, क्योंकि कांग्रेस का जनघोषणापत्र उन्होंने ही तैयार किया था। मुख्यमंत्री बघेल पहले कैबिनेट की बैठक में संकेत भी दे चुके हैं। सिंहदेव 2008 में लोक, लेखा समिति के सदस्य भी थे।

Spread the love

You may have missed