April 16, 2021

Suyashgram.com

मासिक पत्रिका एवं वेब न्यूज़ पोर्टल

नर्स आन्दोलन हुआ और उग्र, जेल के अंदर ही नर्सों ने सुरु कर दी भूख हड़ताल, माताएं जेल के अंदर बच्चे बिलख रहे जेल के बाहर

रायपुर (सुयश ग्राम) रायपुर में चल रही नर्स की हड़ताल अब और आक्रामक हो गयी है। 15 दिनों से ज्यादा समय से हड़ताल कर रही नर्सों को एस्मा के तहत शुक्रवार को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। नर्सों को गिरफ्तार करने के बावजूद शासन और प्रशासन उनकी हड़ताल को खत्म करवाने में कामयाब नहीं हो पाए हैं।
आज जेल में बंद नर्सों ने जेल के अंदर ही भूख हड़ताल सुरु कर दी, जिसके बाद प्रशासन की मुश्किलें और बढ़ गईं हैं।
नर्सों की हड़ताल खत्म कराने केन्द्रीय जेल रायपुर पहुंचे जिला कलेक्टर ओपी चौधरी ने जेल के अंदर ही नर्स यूनियन की नेताओं से मुलाकात की। लगभग 2 घंटे तक चली बातचीत विफल रही। कलेक्टर चौधरी ने नर्सों से कहा कि मामला राजनीतिक रंग लेने लगा है लिहाजा उन्हें अपनी हड़ताल खत्म कर देनी चाहिए। उन्होंने नर्सों को बताया कि उनकी मांगों को लेकर शासन ने कमेटी का गठन किया है, और कमेटी की रिपोर्ट आते ही उनकी मांगों पर फैसला लिया जाएगा।
लेकिन नर्स कलेक्टर की बातों से सहमत नही हुई उल्टा एक नई शर्त रख दी गयी। कलेक्टर से कहा कि उनकी मुख्यमंत्री से मुलाकात कराई जाए। सीएम से मुलाकात के बाद ही वो हड़ताल खत्म करने पर फैसला लेंगी। कलेक्टर से चर्चा विफल होने के बाद नर्सों ने अपने आंदोलन को और उग्र कर दिया है जेल के अंदर ही वे भूख हड़ताल पर बैठ गई हैं।
मां जेल के अंदर बच्चे बिलख रहे बाहर
नर्सों की गिरफ्तारी के बाद उनके परिजन भी बेतहाशा परेशान हैं वे छोटे-छोटे बच्चों के साथ धूप में जेल के बाहर किसी सकारात्मक पहल का इंतजार कर रहे हैं। कई छोटे बच्चे हैं जिनकी माताएं जेल के अंदर है । ऐसे में परिजनों का परेसान होना लाजमी है। वहीं कांग्रेस ने हड़ताली नर्सों को अपना समर्थन दे दिया है।

Spread the love