December 4, 2020

Suyashgram.com

मासिक पत्रिका एवं वेब न्यूज़ पोर्टल

नवजोत सिंह सिद्धू को 30 साल पुराने हत्या के मामले में सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत

दिल्ली (सुयश ग्राम) पूर्व क्रिकेटर और पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू पर सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाया है। उन्हें 30 साल पुराने मामले में कोर्ट ने बड़ी राहत दी है। हालांकि इससे जुड़े रोड रेज मामले में उन्हें दोषी करार दिया है। जिसमें उनके उपर एक हजार रुपए का जुमार्ना लगाया है। सिद्धू विधायक और पंजाब में कैबिनेट मंत्री बने रहेंगे। बता दें कि इससे पहले पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट ने सिद्धू को तीन वर्ष कैद की सजा सुनाई थी, जिसे उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी। 18 अप्रैल को जस्टिस जे चेलमेश्वर और जस्टिस संजय किशन कौल की पीठ ने 1988 के रोड रेज मामले में सभी पक्षों की दलीलों को सुनने के बाद अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था।

मेडिकल साक्ष्यों में कमी थी और अभियोजन पक्ष के गवाहों ने ट्रायल कोर्ट के समक्ष अलग बयान दिए थे। वहीं, पंजाब सरकार ने कोर्ट में कहा था कि 30 वर्ष पुराने इस मामले में पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट द्वारा सिद्धू को दोषी ठहराए जाने का फैसला सही है।

अगर सुप्रीम कोर्ट ने सिद्धू की दोष सिद्धि और तीन साल की सजा पर मुहर लगा देती तो वह तत्काल अयोग्य करार दिए जाते साथ ही सजा खत्म होने के बाद छह वर्ष तक चुनाव नहीं लड़ सकते। सिद्धू पर आरोप था कि 27 दिसंबर, 1988 को पटियाला में सड़क पर 65 वर्षीय गुरनाम सिंह से बहस हो गई।

इस पर उन्होंने गुरनाम को मुक्का जड़ दिया। अस्पताल में ब्रेन हैंमरेज से उसकी मौत हो गई। निचली अदालत ने सिद्धू को आरोप मुक्त कर दिया था लेकिन पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट ने निचली अदालत के फैसले को दरकिनार करते हुए सिद्धू को गैर इरादतन हत्या का दोषी ठहराते हुए तीन वर्ष कैद की सजा सुनाई थी।

Spread the love

You may have missed