January 16, 2021

Suyashgram.com

मासिक पत्रिका एवं वेब न्यूज़ पोर्टल

पंचायत चुनाव: हार गया चुनाव तो उम्मीदवार ने घर-घर जाकर मांगा अपना बांटा हुआ सामान….घरवालों का भी नहीं मिला पूरा वोट, तो तिलमिलाये प्रत्याशी ने पूरे गांव में सुनायी खूब खरी-खोटी, पुलिस ने गिफ्ट लेने और देने वाले दोनों पर किया एफआईआर दर्ज

रायपुर 29 जनवरी 2020। पंचायत चुनाव में जो नजारा रायपुर में दिखा शायद ही कभी किसी ने देखा होगा। यहां एक उम्मीदवार ने हारने के बाद घर-घर जाकर चुनाव के पहले बांटे सामान का मांगना शुरू कर दिया। ये सामान उसने मतदाताओं को अपने पक्ष में करने लालच के लिए बांटे थे, अब जबकि चुनाव परिणाम जारी हुआ तो उसे करारी शिकस्त मिल गयी। सामान लेकर भी लोगों ने उसे सबक दिखाया और वोट नहीं दिया, जिससे नाराज होकर उम्मीदवार ने अपना सामान वापस मांगना शुरू कर दिया।

ये पूरा मामला आरंग के भसोज गांव का है, जहां पंच पद के लिए एक ही परिवार के दो भाई खड़े हुए थे। दोनों भाई ने जलन की वजह से एक-दूसरे के खिलाफ चुनाव प्रचार किया और इसमें से छोटा भाई मनोहर देवांगन ने नया पैतरा अपनाते हुए और बड़े भाई को हराने के लिए मतदाताओं को लालच देना शुरू कर दिया। मनोहर ने बड़ा खर्च करते हुए भारी मात्र में मतदाताओं को कुकर, कपड़ा, मिक्सर, साड़ी, मशीन, ग्राइंडर सहित कई सामान बांटे । उसे लगा कि इस लालच के बूते उसे बंपर जीत मिल जायेगी, वोटिंग के पहले तक वो जिनसे भी मिलता, सभी उसे बोलते की वो वोट उसी को दे रहे हैं, लेकिन रिजल्ट आते ही मनोहर को 440 वोल्ट का झटका लग गया। 114 वोट में से कुल 8 वोट ही मिले। हद तो तब हो गया कि जब घर के कुल सदस्य में से आधे वोट ही उसे मिले।

इस हार के बाद मनोहर तिलमिला गया और गांव वालों को गद्दारी का आरोप लगाकर धमकाने लगा। वो अपने दिये सामान को भी वापस मांगने लगा। गुस्से में मनोहर ने घर-घर जाकर सामान इक्टठा करने लगा, इस हरकत के बाद ग्रामीणों ने खुद से भी सामान को घरों से लाकर उसे जमा करा दिया।

इधर इस घटना की जानकारी पुलिस तक पहुंची, तो पुलिस मौके पर पहुंची, लेकिन उससे पहले मनोहर फरार हो गया। पुलिस ने चुनाव में प्रलोभन देने के मामले में FIR दर्ज कर लिया है। सामान बांटने के साथ-साथ सामन लेने वाले पर भी मामला दर्ज किया गया है।
साभार:एनपीजी

Spread the love

You may have missed