January 28, 2021

Suyashgram.com

मासिक पत्रिका एवं वेब न्यूज़ पोर्टल

प्रदेश के गृह मंत्री के भतीजे के खिलाफ 376 का मामला हुआ दर्ज, पीड़िता के ऊपर मामला वापस लेने बना रहे दवाव

रायपुर/सूरजपुर। एसजी न्यूज। यौन उत्तपीड़न की बढ़ती घटनाओं के बीच प्रदेश के गृहमंत्री रामसेवक पैकरा के भतीजे पर एक युवती के साथ यौन शोषण का आरोप लगा है। पीड़ित युवती ने गृहमंत्री के भतीजे पर शादी का झांसा देकर यौन शोषण करने का आरोप लगाया है। पीड़िता की शिकायत पर पुलिस ने गृहमंत्री के भतीजे के खिलाफ 376 का मामला दर्ज किया है। पहले तो रसूख के कारण पुलिस को पीड़िता की फरियाद नहीं सुनाई दी और पुलिस ने एफआईआर दर्ज करने से ही इंकार कर दिया हालांकि मीडिया में खबर आने के बाद में आईजी के हस्तक्षेप के इस मामले में पुलिस ने आरोपी के खिलाफ अपराध तो दर्ज कर लिया है, लेकिन आरोपी को अभी तक गिरफ्तार नहीं किया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार युवती का आरोप है कि सन् 2014 में वह हाई स्कूल चेंन्द्रा में पढ़ाई कर रही थी उसी दौरान शमोध पैकरा से उसकी जान पहचान हुई। दोनों की जान-पहचान कुछ दिन बाद मोहब्बत में बदल गई। दोनों एक दूसरे से प्रेम करते थे और जब पीड़िता ने शादी की बात कही, तो पीड़िता के नाबालिग होने का हवाला देकर आरोपी शमोध पैकरा उसे टालता रहा। आरोपी द्वारा पीड़िता से बाद में शादी करने का झांसा देकर लगातार उसका यौन शोषण करता रहा। लेकिन इसी दौरान युवती गर्भवती हो गई, जिस पर शमोध ने युवती को गर्भपात कराने के लिए दवाब बनाया लेकिन युवती नहीं मानी और उसने एक बच्ची को जन्म दिया। बच्ची के जन्म के बाद भी शमोध युवती को शादी का आश्वासन देता रहा। बगैर शादी किए आरोपी ने युवती को कई दिनों तक अपने और रिश्तेदारों के घर पर भी रखा। पिछले साल अप्रेल में आरोपी के पिता की सड़क हादसे में मृत्यु हो गई। उसके बाद जब शमोध की SECL में नौकरी लग गई उसके बाद आरोपी शमोध ने पीड़ित से शादी करने से साफ इंकार कर दिया।

पीड़िता अपनी फरियाद लेकर पुलिस थाने पहुची लेकिन कोई सुनवाई नही होने पर अपनी मासूम सी बच्ची के साथ सरगुजा आईजी के पास पहुंची। पीड़िता ने आईजी को अपनी आपबीती सुनाते हुए उनसे न्याय की गुहार लगाई। पीड़िता की फरियाद सुनकर आईजी ने तुरंत ही आरोपी शमोध के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया। जिसके बाद पुलिस ने गृहमंत्री रामसेवक पैकरा के भतीजे शमोध के खिलाफ IPC की धारा 376 IPC एवं 4-CHL के तहत अपराध तो दर्ज कर लिया है।

उधर पीड़ित युव​ती की मां ने आरोप लगाया है कि दबाव में पुलिस ने आरोपी के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध तो कर लिया है लेकिन अब उन पर केस वापस लेने का दबाव बनाया जा रहा है। उसका कहना है कि गृहमंत्री के रिश्तेदार उन पर केस वापस लेने का दबाव बना रहे हैं जिसकी वजह से उनका परिवार दहशत में जीने को मजबूर है।

Spread the love

You may have missed