May 9, 2021

Suyashgram.com

मासिक पत्रिका एवं वेब न्यूज़ पोर्टल

बड़ी खबर: छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस का संदिग्ध मरीज मिलने से मचा हड़कंप, चाइना के बाद छत्तीसगढ़ का मामला, आपके लिए भी जानना है यह जरूरी …

पुणे भेजा गया ब्लड सैंपल कोरोना वायरस के संदिग्ध मरीज के मिलने का यह छत्तीसगढ़ का पहला मामला

अम्बिकापुर, 03 फ़रवरी 2020। सरगुजा जिले के गांधीनगर निवासी प्रवीण दुबे में करोना वायरस का लक्षण पाया गया है। बताया जा रहा है कि प्रवीण दुबे साउथ वेस्ट मेडिकल यूनिवर्सिटी चाइना लोजो में एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहा था। और परीक्षा खत्म होने के बाद 9 जनवरी को अम्बिकापुर पहुंचा है। पिछले 25 दिनों से खांसी खरास आने के बाद आज प्रवीण दुबे मेडिकल कॉलेज में इलाज के लिए पहुंचा। जहां डॉक्टरों ने ब्लड सैंपल लेकर नेशनल वायरल इंस्टीट्यूट पुणे भेजा है। कोरोना वायरस के संदिग्ध मरीज के मिलने का यह छत्तीसगढ़ का पहला मामला बताया जा रहा है। हालांकि डॉक्टर रिपोर्ट आने का इंतजार कर रहे हैं।

क्या है कोरोना वायरस?
चीन में कोरोना वायरस के कहर से मरने वालों की संख्या 259 को पार कर गई है. अब तक 22 देशों में इसके संक्रमण के करीब 11800 मामले सामने आए हैं. विश्व स्वास्थ्य संगठन पहले ही इसे इमर्जेंसी घोषित कर चुका है. भारत में भी अब तक इसके दो मामले सामने आए हैं. स्वास्थ्य अधिकारियों के लिए इसे फैलने से रोकना एक बड़ी चुनौती बन गई है. हालांकि, चीन इसे रोकने के लिए हर मुमकिन कोशिश कर रहा है. दुनिया भर में कोरोना वायरस के केस लगातार सामने आने के बाद विश्व स्वास्थ्य संगठन यानी डब्लूएचओ ने कोरोना वायरस को अंतर्राष्ट्रीय आपातकाल घोषित किया है.

कोरोना वायरस (सीओवी) का संबंध वायरस के ऐसे परिवार से है, जिसके संक्रमण से जुकाम से लेकर सांस लेने में तकलीफ जैसी समस्या हो सकती है. इस वायरस को पहले कभी नहीं देखा गया है. इस वायरस का संक्रमण दिसंबर में चीन के वुहान में शुरू हुआ था. डब्लूएचओ के मुताबिक, बुखार, खांसी, सांस लेने में तकलीफ इसके लक्षण हैं. अब तक इस वायरस को फैलने से रोकने वाला कोई टीका नहीं बना है.

क्या हैं इस बीमारी के लक्षण?
इसके संक्रमण के फलस्वरूप बुखार, जुकाम, सांस लेने में तकलीफ, नाक बहना और गले में खराश जैसी समस्या उत्पन्न होती हैं. यह वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है. इसलिए इसे लेकर बहुत सावधानी बरती जा रही है. यह वायरस दिसंबर में सबसे पहले चीन में पकड़ में आया था. इसके दूसरे देशों में पहुंच जाने की आशंका जताई जा रही है.

क्या हैं इससे बचाव के उपाय?
स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने कोरोना वायरस से बचने के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं. इनके मुताबिक, हाथों को साबुन से धोना चाहिए. अल्‍कोहल आधारित हैंड रब का इस्‍तेमाल भी किया जा सकता है. खांसते और छीकते समय नाक और मुंह रूमाल या टिश्‍यू पेपर से ढककर रखें. जिन व्‍यक्तियों में कोल्‍ड और फ्लू के लक्षण हों उनसे दूरी बनाकर रखें. अंडे और मांस के सेवन से बचें. जंगली जानवरों के संपर्क में आने से बचें.

Spread the love