January 16, 2021

Suyashgram.com

मासिक पत्रिका एवं वेब न्यूज़ पोर्टल

बड़ी खबर: नान घोटाले के आरोपी शिवशंकर भट्ट को 2006 में लेने रिश्वत के मामले में 4 साल की सजा और 50 हजार जुर्माना

रायपुर। एसजी न्यूज। बहुचर्चित नान घोटाले के आरोपी शिवशंकर भट्ट को आज रायपुर न्यायालय में विशेष न्यायाधीश ने 4 साल की सजा सुनाई है।
दरअसल भट्ट को 2006 में रिश्वत लेने के दोषी पाया गया है। भट्ट ने परिवहन का ठेका दिलाने के नाम पर 20 हजार रुपए की रिश्वत की मांग की थी, इसी दौरान एसीबी ने रिश्वत लेते भट्ट को रंगे हाथों गिरफ्तार किया था। शिवशंकर भट्ट को बाद में नान का प्रबंधक बनाया गया था, और उनका नाम नान घोटाले में भी आया है।

शिव शंकर भट्ट ने 2006 में सोसायटियों में खाद्यान पहुंचाने के लिए ठेकेदार से भाड़े का दो लाख बिल भुगतान के लिए आरोपी ने बिल पास कराने के लिए 25 हजार की रिश्वत की डिमांड की थी। ठेकेदार से सौदा हुआ था कि पहले पांच हजार देना पड़ेगा और 20 हजार बिल पास होने पर।

ठेकेदार पांच हजार की रिश्वत दे दिया तब जाकर अधिकारी ने बिल की फाइल आगे बढ़ा दी। इसके बाद ठेकेदार ने रिश्वत की शिकायत एसीबी से कर दी। आरोपी को पकडऩे के लिए एसीबी ने 29 नवंबर को जाल बिछाया। ठेकेदार ने जैसे ही रिश्वत के पैसा 20 हजार लेकर अधिकारी के चेंबर में घुसा और जैसे ही पैसा उसको दिया एसीबी की टीम पिछले छापामार दिया और आरोपी को 20 हजार की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ा गया।

Spread the love

You may have missed