January 19, 2021

Suyashgram.com

मासिक पत्रिका एवं वेब न्यूज़ पोर्टल

बड़ी खबर: निर्भया गैंगरेप केस: दोषियों को होगी फांसी, सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की पुनर्विचार याचिका

दिल्ली डेस्क। एसजी न्यूज। सुप्रीम कोर्ट ने साल 2012 के दिल्ली सामूहिक दुष्कर्म मामले (निर्भया गैंगरेप केस) में फांसी की सजा के खिलाफ पुनर्विचार याचिका को खारिज कर दिया है। यानी दोषियों की फांसी की सजा बरकरार रखी गई है। मामले में मृत्युदंड की सजा पा चुके चार दोषियों में से तीन ने सुप्रीम कोर्ट में सजा के खिलाफ पुनर्विचार याचिका दायर की थी।

चारों दोषी मृत्युदंड की सजा का सामना कर रहे हैं। प्रधान न्यायाधीश न्यायमूर्ति दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति आर. भानुमति और न्यायमूर्ति अशोक भूषण की खंडपीठ आरोपी विनय शर्मा, पवन गुप्ता और मुकेश सिंह की याचिकाओं पर ये फैसला सुनाया है।

दोषी अक्षय ठाकुर ने समीक्षा याचिका दायर नहीं की थी। सुप्रीम कोर्ट ने चार मई को इस मामले में दोषियों की पुनर्विचार याचिका पर फैसला सुरक्षित रखा था।

मुकेश (29), पवन, (22) और विनय शर्मा (23) और अक्षय कुमार सिंह (31) 16 दिसंबर, 2012 को चलती बस में 23 साल की पैरा-मेडिकल छात्रा के साथ मिलकर दुष्कर्म करने और मारपीट करने के दोषी हैं। घटना के 13 दिनों बाद सिंगापुर के एक अस्पताल में पीड़िता की मौत हो गई थी। आरोपियों में से एक राम सिंह ने तिहाड़ जेल में आत्महत्या कर ली थी। आरोपियों में एक किशोर भी शामिल था। उसे किशोर न्याय बोर्ड ने दोषी ठहराया था। उसे तीन साल सुधार गृह में रखे जाने के बाद रिहा कर दिया गया था।

Spread the love

You may have missed