बड़ी खबर

बड़ी खबर: भाजपा के मुख्यमंत्री उम्मीदवार और मुख्यमंत्री सीएम रघुबर दास, निर्दलीय उम्मीदवार सरयू राय से इतने मतों से चल रहे पीछे, कांग्रेस गठबंधन पूर्ण बहुमत की ओर..

रांची, 23 नवंबर 2019, झारखंड विधानसभा चुनाव 2019 में जमशेदपुर पूर्वी सबसे हॉट सीट है. इस सीट पर मुख्यमंत्री रघुबर दास को उनकी ही कैबिनेट के पूर्व मंत्री और पार्टी के बागी सरयू राय से कड़ी चुनौती मिल रही है. मतगणना के ताज़ा रुझानों के मुताबिक, बीजेपी से बगावत करके इस सीट से निर्दलीय चुनाव लड़ रहे राज्य के पूर्व मंत्री सरयू राय ने मुख्यमंत्री रघुबर दास के खिलाफ 4643 वोटों से बढ़त बना ली है.

जमशेदपुर पूर्व सीट पर सबकी निगाहें लगी हुई हैं, क्योंकि यहां मुकाबला किसी भी ओर जा सकता है. इसकी बड़ी वजह ये है कि सरयू राय जैसे नेता जमशेदपुर पश्चिम से लगातार जीतते रहे, लेकिन उन्होंने इस बार बागी तेवर दिखाते हुए जमशेदपुर पूर्व की सीट से निर्दलीय चुनाव लड़ा है. बगावत का बिगुल बजाने वाले सरयू राय का भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ने का जबर्दस्त रिकार्ड है. उनकी वजह से तीन-तीन मुख्यमंत्रियों को सलाखों के पीछे जाना पड़ा है. इन तीन मुख्यमंत्रियों में लालू यादव और जगन्नाथ मिश्रा चारा घोटाले में और मधु कोड़ा 8000 करोड़ के घोटाले में जेल भेजे जा चुके हैं. सरयू राय के मैदान में उतरने से रघुबर दास की चुनौती बढ़ गई है. रघुबर दास को न सिर्फ अपनी सीट बचानी है बल्कि बीजेपी को भी सत्ता में लाना है.

हालांकि रघुवरदास 1995 से लगातार जमशेदपुर पूर्व से चुनाव लड़ते आ रहे हैं और पांच दफे चुनाव जीतकर विधानसभा पहुंच चुके हैं. जमशेदपुर पूर्व सीट को शहरी मतदाताओं का केंद्र माना जाता है और यहां बीजेपी अपना गढ़ बनाने में तकरीबन तीन दशक से कामयाब रही

Spread the love