बड़ी खबर

बड़ी खबर: मनरेगा में छत्तीसगढ़ को 7 पुरस्कार, पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव ने मनरेगा क्रियान्वयन में लगे सभी अधिकारियों-कर्मचारियों और पंचायत प्रतिनिधियों को दी बधाई

केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर 19 दिसम्बर को नई दिल्ली में देंगे पुरस्कार

उत्कृष्ट कार्यों के लिए राज्यों को दिए जाने वाले 3 पुरस्कारों सहित मुंगेली जिला, पामगढ़ विकासखंड और धोतीमटोला व पोड़ी ग्राम पंचायत का चयन

रायपुर. 16 दिसम्बर 2019. छत्तीसगढ़ में मनरेगा (महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना) के अंतर्गत किए जा रहे कार्यों को एक बार फिर राष्ट्रीय स्तर पर पहचान मिली है। योजना के उत्कृष्ट क्रियान्वयन के लिए प्रदेश का चयन केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्रालय द्वारा सात पुरस्कारों के लिए किया गया है। इनमें मनरेगा के बेहतरीन क्रियान्वयन के लिए राज्यों को दिए जाने वाले तीन, जिलों और विकासखंडों को दिए जाने वाले एक-एक और ग्राम पंचायतों के लिए दो पुरस्कार शामिल हैं।

पंचायत मंत्री ने दिन बधाई

पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री टी.एस. सिंहदेव ने मनरेगा में लगातार अच्छे कार्यों के लिए पूर्व विभागीय अपर मुख्य सचिव एवं वर्तमान मुख्य सचिव आर.पी. मंडल, प्रमुख सचिव सुब्रत साहू और मनरेगा आयुक्त टी.सी. महावर सहित इसके क्रियान्वयन मे लगे सभी अधिकारियों-कर्मचारियों एवं पंचायत प्रतिनिधियों को बधाई दी है। उन्होंने राष्ट्रीय स्तर पर दिए जाने वाले इन पुरस्कारों में जगह बनाने के लिए मुंगेली के कलेक्टर और जिला कार्यक्रम समन्वयक (मनरेगा) सर्वेश्वर नरेन्द्र भूरे, पामगढ़ जनपद पंचायत में मनरेगा कार्यक्रम अधिकारी सौरभ शुक्ला तथा ग्राम पंचायत पोड़ी की सरपंच श्रीमती प्रेमा बाई और धोतीमटोला की सरपंच श्रीमती विद्या रावते को खासतौर पर बधाई और शुभकामनाएं दी हैं।

केंद्रीय मंत्री 19 दिसंबर को देंगे पुरुस्कार

केन्द्रीय ग्रामीण विकास, पंचायतीराज, कृषि एवं कृषक कल्याण मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर 19 दिसम्बर को राष्ट्रीय कृषि विज्ञान परिसर, नई दिल्ली में आयोजित पुरस्कार समारोह में छत्तीसगढ़ को ये पुरस्कार प्रदान करेंगे। प्रदेश को मनरेगा के तहत जियो-मनरेगा इनीशिएटिव्ह के क्रियान्वयन में देशभर में दूसरा, कार्यपूर्णता में दूसरा और सुशासन (Good Governance) इनीशिएटिव्ह के क्रियान्वयन में दूसरा स्थान मिला है। जिला प्रशासन द्वारा योजना के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए मुंगेली का चयन किया गया है।

जियो-मनरेगा इनीशिएटिव्ह के तहत जी.आई.एस. संपत्ति पर्यवेक्षण क्रियान्वयन (GIS Asset Supervision Implementation) में जांजगीर-चांपा जिले का पामगढ़ विकासखंड देशभर में दूसरे स्थान पर है। वाटर हार्वेस्टिंग हेतु संरचना निर्माण के लिए कोरिया जिले के पोड़ी ग्राम पंचायत (विकासखंड सोनहत) को देशभर में दूसरा तथा मनरेगा कार्यों के क्रियान्वयन में उत्कृष्टता के लिए बालोद जिले के धोतीमटोला (विकासखंड डौंडी) को तीसरा स्थान मिला है।

अब तक मनरेगा में Best Performing Gram Panchayat का राष्ट्रीय अवार्ड प्राप्त कर चुकी ग्राम पंचायतों की सूची:-
1.) 2011 में अविभाजित दुर्ग जिले के दुर्ग विकासखंड की ग्रा.पं. – मचांदुर और डोंडी विकासखंड की ग्रा.पं.- खैरवाही
2.) 2013 में राजनादगांव जिले के छुईखदान विकासखंड की ग्रा.पं. – गातापार
3.) 2014 में बालोद जिले के बालोद विकासखंड की ग्रा.पं. – खरथुली
4.) 2015 में रायपुर जिले के आरंग विकासखंड की ग्रा.पं.- फरफौद
5.) 2016 में बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के बलरामपुर विकासखंड की ग्रा.पं.- पाड़ी
6.) 2017 में दुर्ग जिले की पाटन विकासखंड की ग्रा.पं.- टेमरी

7.) 2019 में कोरिया जिले की सोनहत विकासखंड की ग्रा.पं.- पोड़ी एवं बालोद जिले के डोंडी विकासखंड की ग्रा.पं.- धोतीमटोला

effective implementation of MGNREGA by District Team का राष्ट्रीय अवार्ड प्राप्त कर चुके जिलों की सूची:-

1.) 2009 में जिला- कोरिया और बिलासपुर
2.) 2010 में जिला- रायपुर और बस्तर
3.) 2012 में जिला- सरगुजा
4.) 2013 में जिला- कांकेर
5.) 2014 में जिला- राजनांदगांव
6.) 2015 में जिला- नारायणपुर और दंतेवाड़ा
7.) 2017 में जिला- धमतरी और सुकमा
8.) 2018 में जिला- जशपुर

9.) 2019 में जिला- मुंगेली
# जिला-मुंगेली को मिलाकर, प्रदेश के 13 जिले महात्मा गांधी नरेगा अंतर्गत राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित हुए।

Spread the love

Comment here