छत्तीसगढ़

भूपेश बघेल सरकार के मंत्रियों के विभागों का बंटवारा हुआ, सीएम ने वित्त विभाग रखा अपने पास

रायपुर। छत्तीसगढ़ की भूपेश बघेल सरकार ने अपने मंत्रियों के विभागों का बंटवारा कर दिया है। सीएम भूपेश बघेल ने अपने पास सबसे महत्वपूर्ण विभाग वित्त विभाग, सामान्य प्रशासन विभाग, ऊर्जा, खनिकर्म, जनसंपर्क, इलेक्ट्रानिकी एवं सूचना प्रौद्योगिकी विभाग रखा है। विधानसभा चुनाव में जीत हासिल करने के बाद मुख्यमंत्री के रूप में भूपेश बघेल ने 17 दिसंबर को शपथ ली थी और इसके बाद मंत्रियों के नाम तय करने के लिए बैठकों का एक लंबा दौर चला था। भूपेश सरकार के 9 मंत्रियों के शपथ ग्रहण के बाद विभाग बंटवारे में भी काफी मशक्कत करना पड़ा है।

टीएस सिंहदेव को पंचायत एवं ग्रामीण विकास, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, चिकित्सा शिक्षा, योजना आर्थिक एवं साख्यिकी बीस सूचीय, वाणिज्यिक कर (जीएसटी) विभाग सौंपा गया है।

ताम्रध्वज साहू को लोक निर्माण विभाग, गृह, जेल, धर्मस्व, पर्यटन एवं संस्कृति विभाग सौंपा गया है।

रविंद्र चौबे को संसदीय कार्य, विधि एवं विधायी कार्य, कृषि एवं जैव प्रौद्योगिकी, पशुपालन, मछली पालन, जल संसाधन एवं आयाकट विभाग सौंपा गया है।

मोहम्मद अकबर को परिवहन विभाग, आवास एवं पर्यावरण, वन विभाग, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति, उपभोक्ता संरक्षण विभाग सौंपा गया है।

उमेश पटेल को उच्च शिक्षा एवं तकनीकी शिक्षा, कौशल विकास एवं जन शक्ति नियोजन, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, खेल एवं युवा कल्याण का जिम्मा सौंपा गया है।

जय सिंह अग्रवाल को राजस्व एवं आपदा प्रबंधन, पुनर्वास, पंजीयन एवं स्टाम्प का जिम्मा सौंपा गया है।

अनिला भेड़िया को महिला एवं बाल विकास विभाग, समाज कल्याण विभाग सौंपा गया है।

शिव डहरिया को नगरीय प्रशासन विकास एवं श्रम विभाग सौंपा गया है।

रुद्र गुरु को पीएचई एवं ग्रामोद्योग विभाग सौंपा गया है.
प्रेमसाय सिंह को स्कूल शिक्षा, अनुसूचित जाति- जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक कल्याण, सहकारिता विभाग का जिम्मा सौंपा गया है।

कवासी लखमा को वाणिज्यिक कर (आबकारी), उद्योग विभाग का जिम्मा सौंपा गया है।

ये है सूची…

Spread the love