January 23, 2021

Suyashgram.com

मासिक पत्रिका एवं वेब न्यूज़ पोर्टल

मिशनरी ऑफ चैरिटी के झारखंड में स्थित अनाथ आश्रम से बच्चे बेचे जाने का मामला प्रकाश में आने के बाद रायपुर में भी ऐसे ट्रस्टों की जांच की उठी मांग

रायपुर। एसजी न्यूज। हाल ही में मिशनरी आफ चैरिटी ट्रस्ट झारखंड द्वारा बच्चों की तस्करी का मामला प्रकाश में आने के बाद पूरा देश हिल गया है।

इस तरह के ट्रस्टों में चल रहे अवैध कारनामों से लोगों का विषवह ही उठता जा रहा है। जगह जगह ऐसे संस्थानो की जांच की मांग उठने लगी है।

रायपुर में सामाजिक कार्यकर्ता और आरटीआई एक्टिविस्ट कुणाल शुक्ला ने जिला कलेक्टर को पत्र सौपकर मांग की है कि त हो संस्था मिशनरी ऑफ चैरिटी के झारखंड राज्य के रांची शहर स्थित अनाथ आश्रम निर्मल ह्रदय में बच्चों को देढ़ से दो लाख रुपये में बेचे जाने का मामला प्रकाश में आया है, अनुमान है कि इस संस्था ने विगत कुछ वर्षों में 280 बच्चों को बेचा है। मानव तस्करी के इस अहम मामले में झारखंड पुलिस ने आश्रम के कुछ लोगों को गिरफ्तार किया है। मानव तस्करी से जुड़े इस मामले की आंच रायपुर के राजेन्द्र नगर स्थिति मिशनरी ऑफ चैरिटी के आश्रम तक भी हो सकती है।

कुणाल शुक्ला ने कलेक्टर से मांग की है कि जांच करवाई जाए कि मिशनरी ऑफ चैरिटी के रायपुर स्थिति संस्था ने विगत 15 वर्षों में कितने बच्चों को गोद लिया और दिया है और उनकी वर्तमान स्थिति क्या है। क्या बच्चों को गोद लेने और देने में संस्था ने एडॉप्शन के सम्पूर्ण सरकारी नियमों का पालन किया है या नही कहीं संस्था ने नाबालिक बच्चों का धर्म परिवर्तन तो नहीं करवाया है?

Spread the love

You may have missed