April 16, 2021

Suyashgram.com

मासिक पत्रिका एवं वेब न्यूज़ पोर्टल

राजधानी में ‘आकार-2018‘ की तैयारी पूर्ण, 1 मई से शुरू होगा शिविर, बच्चों, युवाओं और महिलाओं सहित बुजुर्ग भी हिस्सा ले कर कर सकते है प्रशिक्षण प्राप्त…

राज्य सरकार के संस्कृति और पुरातत्व संचालनालय द्वारा राजधानी रायपुर स्थित महंत घासीदास संग्रहालय परिसर में मंगलवार एक मई से शुरू होने वाले एक पखवाड़े के परम्परागत शिल्प और विविध कला प्रशिक्षण शिविर ‘आकार-2018‘ की तैयारी पूरी कर ली गयी है।

संचालनालय के अधिकारियों ने बताया कि शिविर में बच्चों, युवाओं और महिलाओं सहित बुजुर्ग भी हिस्सा ले कर प्रशिक्षण प्राप्त कर सकते हैं। शिविर दो पालियों में प्रतिदिन सवेरे 7 बजे से 10 बजे तक और शाम 4.30 बजे से रात्रि 7.30 बजे तक चलेगा। इसमें शामिल होने के लिए उम्र का कोई बंधन नही है। शिविर में ढोकरा शिल्प, मृदा शिल्प, जापानी पेपर कटिंग, चित्रकला, क्लेआर्ट, कैलीग्राफी, ड्राई फ्लावर, म्यूरल आर्ट, ग्लास पेंटिंग, रजवार भित्ति चित्र, बोनसाई, लोक नृत्य और शास्त्रीय नृत्य, नाटक, कराटे (मार्शल आर्ट) और पट्टचित्र विधा में विषय विशेषज्ञों द्वारा प्रशिक्षण दिया जाएगा। सिर्फ 200 रूपए का प्रशिक्षण शुल्क देकर निर्धारित प्रारूप में आवेदन किया जा सकता है।

अधिकारियों ने बताया कि इच्छुक प्रतिभागियों के लिए आवेदन फार्म और शिविर से संबंधित अन्य जानकारी संस्कृति विभाग की वेबसाइट डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू डॉट सीजीकल्चर डॉट इन (www.cgculucture.in) में उपलब्ध है। आवेदन फार्म को इस वेबसाइट से डाउनलोड किया जा सकता है। राजधानी रायपुर में आयोजित किए जा रहे इस शिविर के लिए संस्कृति और पुरातत्व विभाग के उप संचालक श्री एस.एस.सी. केरकेट्टा को प्रभारी अधिकारी बनाया गया है। शिविर के बारे में अधिक जानकारी के लिए उनसे मोबाइल फोन नम्बर 98264-39500 पर अथवा संस्कृति एवं पुरातत्व संचालनालय के टेलीफोन नम्बर 0771-2537404 पर सम्पर्क किया जा सकता है।

Spread the love