May 9, 2021

Suyashgram.com

मासिक पत्रिका एवं वेब न्यूज़ पोर्टल

विधानसभा में सुबह से 8 अधिकारी हो चुके ससपेंड, एक सीईओ के खिलाफ विभागीय कार्यवाही, एक पुलिसकर्मी को महिला विधायक की गाड़ी रोकना पड़ा महंगा…. सदन में शिकायत के बाद संसदीय कार्यमंत्री ने दिया सस्पेंड करने का निर्देश…

रायपुर 26 फरवरी 2020। छत्तीसगढ़ विधानसभा के तीसरे दिन का प्रश्नकाल अफसरों पर भारी पड़ता नजर आ रहा है। विधानसभा में तीन अलग-अलग सवालों पर स्वास्थ्य एवं पंचायत विकास मंत्री टीएस सिंहदेव और पीडब्ल्यूडी मंत्री ताम्रध्वज साहू ने कुल 8 अधिकारियो के खिलाफ कार्यवाही की घोषणा कर दी जिनमे लोकनिर्माण मंत्री ने 6 ससपेंड कर दिया। वही विधायक आशीष छाबड़ा ने प्रश्नकाल के दौरान जनपद पंचायत बेरला के मुख्य कार्यपालन अधिकारी के विरुद्ध अवैध वसूली की शिकायतों का मामला उठाया। इस संबंध में टीएस सिंहदेव ने आश्वस्त किया कि शाम तक संबंधित अधिकारी को लेकर जानकारी मिल जाएगी। इसी तरह पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के जनपद पंचायत फिंगेश्वर में पंच और सरपंचों से राशि काटने के मामले में भी पंचायत मंत्री टीएस सिंहदेव ने लेखा अधिकारी को निलंबित करने की घोषणा की।

अब विधानसभा का 9 वां शिकार एक पुलिस कर्मी बना, जिसे विधायक की गाड़ी को रोकना महंगा पड़ गया। संसदीय कार्यमंत्री पुलिसकर्मी को सस्पेंड करने का निर्देश दिया इस पूरे प्रकरण की जानकारी बहुजन समाज पार्टी की विधायक इंदू बंजारे खुद ही विधानसभा में दी थी। दरअसल ये पूरा प्रकरण आज सुबह का है। पामगढ़ की विधायक इंदू बंजारे बलौदाबाजार की तरफ से आ रही थी, इसी दौरान विधानसभा तिराहे के पास बैरियर लगाकर गाड़ियों की चेकिंग हो रही थी।
विधायक की गाड़ी को भी उस दौरान एक कांस्टेबल ने रोक दिया। बताया जा रहा है कि गाड़ी में पास नहीं होने की वजह से गफलत की स्थिति बनी थी। इंदू बंजारे ने बताया कि वो विधायक है, लेकिन कास्टेबल ने ये कहकर उन्हें रूके रहने को कहा, कि वो अधिकारियों से पूछकर बताता है। इस दौरान मौजूद मुंगेली एडिश्नल एसपी से जवान ने जाकर इस बाबत जानकारी दी, जिसके बाद विधायक की गाड़ी से जाने दिया गया।

Spread the love