March 8, 2021

Suyashgram.com

मासिक पत्रिका एवं वेब न्यूज़ पोर्टल

सोशल मीडिया पर दबंगई, अपराधी कर रहे हथियार के साथ फोटो पोस्ट

रायपुर। सोशल मीडिया खास तौर पर फेसबुक पर पिस्टल, बंदूक समेत अन्य हथियार के साथ फोटो अपलोड कर दबंगई दिखाने वाले हिस्ट्रीशीटर और बदमाशों की अब खैर नहीं है। पुलिस ने ऐसे अपराधियों के प्रोफाइल पर नजर रखने के साथ ही उन्हें शार्ट लिस्ट किया है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि अपने आप को अधिक प्रचारित करने की होड़ में लोगों के साथ अपराधी भी सोशल मीडिया का सहारा ले रहे हैं। पिछले दिनों चूना भट्ठी के हिस्ट्रीशीटर शेख शाहरूख को देसी कट्टे के साथ वाट्सएप पर फोटो अपलोड करना भारी पड़ा। क्राइम ब्रांच को जैसे ही इसकी की जानकारी लगी, शाहरूख की हर गतिविधि पर नजर रखने के लिए मुखबिरों को लगा दी।

आखिरकार देशी कट्टा, कारतूस लेकर घूमते शेख शाहरूख को दबोच कर उसे सलाखों के पीछ पहुंचा दिया। यह पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी इंजीनियर की हत्या के मामले में सालभर से फरार चल रहे आइएएस के भाई वरूण कौशल ने नया रायपुर की चमचमाती सड़कों पर रात के समय दोस्तों के साथ कार रेसिंग का वीडियो अपलोड किया था। कई बदमाशों ने नकली हथियार के साथ फोटो शेयर कर मुसीबत मोल ले ली।

केस वन

कट्टे के साथ फोटो खिंचवाकर सोशल मीडिया में पोस्ट कर खुद को रायपुर का डॉन बताने वाले गंज इलाके के हिस्ट्रीशीटर शेख शाहरूख फाफाडीह चौक, स्टेशन रोड से लेकर आमापारा तक छोटे दुकानदारों से वसूली कर रहा था। जो दुकानदार पैसे देने से मना करते थे, उन्हें जान से मारने की धमकी देता था। वह खुद का गैंग बना रहा था। उसने वाट्सएप पर बदमाशों का एक ग्रुप बना रखा था।

इस ग्रुप में उसने कट्टे के साथ फोटो शेयर की थी। रेलवे स्टेशन के पास ऑटो चालकों से वह कट्टे की नोक पर वसूली कर रहा था। इसका फुटेज पुलिस को मिला। जांच के बाद शेख शाहरूख को पकड़ लिया गया। उसने जमशेदपुर (झारखंड) से 10 हजार रुपये में कट्टा व कारतूस खरीदकर लाना बताया।

केस टू

दो साल पहले टिकरापारा निवासी मंयक पंसारी को हाथों में रिवाल्वर तान कर अपनी फोटो फेसबुक पर पोस्ट करना भारी पड़ गया। इस फोटो को कई दोस्तों ने लाइक किया, लेकिन कुछ लोगों को यह तस्वीर नागवार गुजरी और उस तस्वीर को पुलिस को भेज दिया। फिर क्या था, पुलिस ने हथियार के लाइसेंस की पड़ताल की। नतीजतन फेसबुक ब्वॉय हवालात पहुंच गया। उसके पास से रिवाल्वर व 16 कारतूस बरामद किए गए थे।

केस थ्री

मौदहापारा के बदमाशों ने बाइकर्स गैंग बनाकर कई फोटो फेसबुक पर शेयर की थी। शिकायत मिलने पर पुलिस ने बाइकर्स गैंग से जुड़े युवकों को पकड़कर उनके खिलाफ प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की थी।

– सोशल मीडिया में हथियार का प्रदर्शन करने वाले अपराधियों पर पुलिस की निगाह है। ऐसे लोगों को हथियार के साथ गिरफ्तार भी किया जा रहा है। – अभिषेक माहेश्वरी, डीएसपी क्राइम

Spread the love

You may have missed