February 27, 2021

Suyashgram.com

मासिक पत्रिका एवं वेब न्यूज़ पोर्टल

20 लाख करोड़ आर्थिक आर्थिक पैकेज-पार्ट 5:वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा- लैंड, लेबर, लिक्विडी और लॉ पर फोकस, मनरेगा को मिलेगा 40 हजार करोड़.. पढ़िए पूरी घोषणा…

नई दिल्ली,  17 मई 2020. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) ने 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज के पांचवें और अंतिम चरण में आत्मनिर्भर भारत (Aatmanirbhar Bharat) को लेकर सरकार का रोडमैप साझा की है. उन्होंने कहा, देश आज संकट के दौर से गुजर रहा है. आज की घोषणा लैंड, लेबर, लिक्विडी और लॉ पर फोकस है.

कंस्ट्रक्शन मजदूरो को 50 करोड़ 

वित्त मंत्री ने कहा धन के 20 करोड़ों लोगों को अकाउंट में पैसे भेजे हैं. 8.91 करोड़ किसानों के अकाउंट में 2-2 हजार रुपये भेजे हैं. कंस्ट्रक्शन मजदूरों को 50.35 करोड़ रुपये की मदद की है . महिलाओं के अकाउंट में 10 हजार करोड़ रुपये डाले गए. 12 लाख से ज्यादा EPFO खाताधारकों को लाभ हुआ है. देश आज संकट के दौर से गुजर रहा है.

पीएम गरीब कल्याण योजना

पीएम गरीब कल्याण योजना के तहत 6 मई तक 8.19 करोड़ पीएम किसान लाभार्थियों को 2000 रुपये की किस्त मिल गई. जनधन खाताधारक 20 करोड़ महिलाओं के खाते में पैसे पहुंच चुके हैं. 8.91 करोड़ किसानों के अकाउंट में 2-2 हजार रुपये भेजे हैं.

स्वास्थ्य कर्मियों के लिए 50 लाख रुपये की बीमा योजना

पिछले दो माह में कोरोना वायरस से जंग में हेल्थ संबंधी कदमों में राज्यों में 4113 करोड़ रुपये जारी किए गए. जरूरी सामानों पर 3750 करोड़, टेस्टिंग लैब्स और किट्स के लिए 550 करोड़ रुपये की घोषणा की गई. पिछले दो माह में कोरोना वायरस से जंग में हेल्थ संबंधी कदमों में राज्यों में 4113 करोड़ रुपये जारी किए गए. जरूरी सामानों पर 3750 करोड़, टेस्टिंग लैब्स और किट्स के लिए 550 करोड़ रुपये की घोषणा की गई.

महामारी एक्ट में बदलाव किया गया है. कोरोना के लिए स्वास्थ्य विभाग को 15 हाजर करोड़ रुपये की घोषणा की गई है. किसानों को संकट के समय 86 हजार करोड़ रुपये के लोन का प्रबंध किया गया है.

मनरेगा के लिए 40 हजार 

वित्त मंत्री सीतारमण ने कहा कि मनरेगा के मजदूरों को भुगतान के लिए 40000 करोड रुपए अतिरिक्त दिए जाएंगे.

टेक्नोलॉजी के जरिए शिक्षा पर जोर-पीएम ई-विद्या को तुरंत आधार पर लॉन्च किया जाएगा. इसमें राज्य व केन्द्र शासित प्रदेशों में स्कूली शिक्षा के लिए दीक्षा प्रोग्राम होगा. यह वन नेशन, वन डिजिटल प्लेटफॉर्म होगा. 1 से 12वीं कक्षा के लिए प्रति क्लास एक चिन्हित टीवी चैनल होगा. रेडियो, पॉडकास्ट, कम्युनिटी रेडियो का इसमें सही इस्तेमाल होगा. दिव्यांगो के लिए भी विशेष ईकंटेंट तैयार किया जाएगा. टॉप 100 विश्वविद्यालयों को ऑनलाइन कोर्सेज की शुरुआत के लिए 30 मई तक अनुमति दी जाएगी. साइकोलॉजिकल सपोर्ट के लिए मनोदर्पण प्रोग्राम शुरू किया जाएगा.

इससे पहले क्या हुआ चार किस्तों में ऐलान… 

1. पहली और दूसरी किस्त-  बुधवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कई बड़े ऐलान किए. इस दौरान उन्‍होंने MSME से लेकर, रियल एस्टेट कंपनियों और आम करदाताओं तक को राहत दी. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने छोटे किसानों, प्रवासी मजूदरों और स्ट्रीट वेंडर्स और शहरी गरीब सहित समाज के निचले तबके के लोगों के लिए हैं.

2. तीसरी किस्त- आर्थिक पैकेज की तीसरी किस्त में वित्त मंत्री ने शुक्रवार को कृषि और उससे जुड़े सेक्टर के लिए 11 अहम ऐलान किए. इसमें 8 ऐलान कृषि के बुनियादी ढांचे को मजबूत करने, क्षमता बढ़ाने और लॉजिस्टिक निर्माण से संबंधित थे, जबकि 3 ऐलान प्रशासनिक सुधारों से जुड़े रहे.

3. चौथी किस्त- चौथी किस्त में कोल, डिफेंस, मिनरल, सिविल एविएशन, स्पेस, पावर सेक्टर के लिए बड़े रिफॉर्म का ऐलान हुआ. कोल सेक्टर में जहां सरकार एकाधिकार खत्म करने के साथ 50 नए कोल ब्लॉक खोलने की घोषणा हुई. वहीं, डिफेंस सेक्टर में ऑटोमैटिक रूप में एफडीआई की सीमा मौजूदा 49 फीसदी से बढ़ाकर 74 फीसदी कर दिया गया. इसके साथ ही सरकार, सोशल इंफ्रा सेक्टर के लिए 8100 करोड़ रुपये के एक पैकेज का ऐलान भी किया.

Spread the love

You may have missed