छत्तीसगढ़विविध

बड़ी खबर: छत्तीसगढ़ को विभिन्न श्रेणियों में मिले राष्ट्रीय स्तर पर 22 पुरस्कार : मनरेगा, पीएमजीएसवाई, आवास योजना के तहत ग्रामीण विकास मंत्रालय के द्वारा किया पुरस्कृत

प्रधानमंत्री आवास योजना में ओवरऑल परफॉर्मेंस पर मिला पहला पुरस्कार

जियो-मनरेगा इनीशिएटिव्ह के तहत पामगढ़ विकासखंड देशभर में दूसरे स्थान पर

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और पंचायत मंत्री टी.एस. सिंहदेव ने दी बधाई एवं शुभकामनाएं

रायपुर, 19 दिसम्बर 2019,  राज्य शासन द्वारा विभिन्न योजनाओं के उत्कृष्ट क्रियान्वयन के लिए छत्तीसगढ़ को विभिन्न श्रेणियों में राष्ट्रीय स्तर पर 15 पुरस्कार प्रदान किए गए। केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्रालय द्वारा नई दिल्ली के राष्ट्रीय कृषि विज्ञान परिसर पूसा में आयोजित पुरस्कार समारोह में छत्तीसगढ़ को विभिन्न योजनाओं के तहत पुरस्कार दिये।

प्रदेश की ओर से प्रमुख सचिव सुब्रत साहू ने केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के हाथों आज पुरस्कार ग्रहण किया। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री टी.एस. सिंहदेव ने इसके लिए विभाग के अधिकारियों और प्रदेशवासियों को बधाई एवं शुभकामनाएं दी हैं।

मनरेगा में सात पुरस्कार
छत्तीसगढ़ को मनरेगा के बेहतरीन क्रियान्वयन के लिए सात श्रेणियों में पुरस्कृत किया गया। प्रदेश जियो-मनरेगा इनीशिएटिव्ह के क्रियान्वयन में देशभर में दूसरा, कार्यपूर्णता में दूसरा और सुशासन (Good Governance) इनीशिएटिव्ह के क्रियान्वयन में भी दूसरे स्थान पर रहा। योजना के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए मुंगेली जिले को भी पुरस्कार मिला। वहां के कलेक्टर श्री सर्वेश्वर नरेन्द्र भूरे ने यह पुरस्कार ग्रहण किया।
जियो-मनरेगा इनीशिएटिव्ह के तहत जी.आई.एस. संपत्ति पर्यवेक्षण क्रियान्वयन (GIS Asset Supervision Implementation) में जांजगीर-चांपा जिले का पामगढ़ विकासखंड देशभर में दूसरे स्थान पर रहा। व्यक्तिगत श्रेणी में दिए जाने वाले इस पुरस्कार के लिए चयनित पामगढ़ के कार्यक्रम अधिकारी श्री सौरभ शुक्ला ने पुरस्कार ग्रहण किया। वाटर हार्वेस्टिंग हेतु संरचना निर्माण के लिए कोरिया जिले के पोड़ी ग्राम पंचायत (विकासखंड सोनहत) को देशभर में दूसरा तथा मनरेगा कार्यों के क्रियान्वयन में उत्कृष्टता के लिए बालोद जिले के धोतीमटोला (विकासखंड डौंडी) को तीसरा पुरस्कार मिला।     

प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) में नौ पुरस्कार
प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के उत्कृष्ट क्रियान्वयन के लिए प्रदेश को नौ श्रेणियों में पुरस्कार मिला। छत्तीसगढ़ पूरे देश में एक वर्ष के भीतर आवास पूर्णता में प्रथम, ग्रामीण राजमिस्त्रियों के प्रशिक्षण में प्रथम और दो वर्षों की समयावधि में लक्ष्य के अनुरूप कार्य करने में प्रथम स्थान पर रहा। वहीं तीन वर्षों की समयावधि में लक्ष्य हासिल करने में दूसरे स्थान पर रहा। प्रधानमंत्री आवास योजना के ओवरऑल परफॉर्मेंस में रायपुर जिला पूरे देश में प्रथम और धमतरी दूसरे स्थान पर रहा। तीन वर्षों की समयावधि में लक्ष्य हासिल करने में भी रायपुर जिला पूरे देश में अव्वल रहा। योजना के तहत पंचायत स्तर पर श्रेष्ठ कार्य के लिए रायगढ़ जिले के पोड़ीछाल ग्राम पंचायत की सरपंच श्रीमती गायत्री बाई राठिया और नारायणपुर जिले के छोटेडोंगर ग्राम पंचायत के सरपंच श्री संतोष कश्यप को पुरस्कृत किया गया। 

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन में पांच पुरस्कार
राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन में बेहतरीन कार्यों के लिए प्रदेश को पांच पुरस्कारों से नवाजा गया। वित्तीय समावेशन और रूर्बन मिशन के क्रियान्वयन में पूरे देश में प्रथम स्थान हासिल करने के साथ ही पब्लिक फाइनेंसियल मैनेजमेंट सिस्टम (PFMS) को लागू करने में देश का पहला क्लस्टर होने का गौरव छत्तीसगढ़ को मिला। समूह निर्माण व क्षमता निर्माण तथा ग्रामीण युवाओं को स्वरोजगार के लिए प्रशिक्षित करने (RSETI – Rural Self Employment Training Institutes)  के लिए प्रदेश को द्वितीय पुरस्कार दिया गया।

पुरुष्कार के साथ विजेता टीम

इन्होने पुरुष्कार किया ग्रहण

प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना में गुणवत्ता में छत्तीसगढ़ पूरे देश में दूसरे स्थान पर रहा। प्रधानमंत्री आवास योजना के प्रबंध संचालक जितेन्द्र शुक्ला, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के प्रबंध संचालक अभिजीत सिंह, मुख्य संचालन अधिकारी श्रीमती एलिस लकड़ा, राज्य कार्यक्रम प्रबंधक आशुतोष सिंह, रायपुर जिला पंचायत के सीईओ गौरव सिंह, धमतरी जिला पंचायत के सीईओ विजय दयाराम के., मनरेगा के अपर आयुक्त अशोक चौबे तथा रूर्बन के राज्य कार्यक्रम प्रबंधक राजीव त्रिपाठी ने अपनी-अपनी श्रेणियों के पुरस्कार ग्रहण किए।

Spread the love

Comment here