विविध

विशेष: कोरोना वायरस की मिथ्या और सच को लेकर एक डॉक्टर की अपील….. कोरोना की सच्चाई जानने जरूर पढ़े और अमल करें…..

डॉ सुधीर भोई, (एम.डी.). लाॅक डाउन में जिस तरह से लोगों ने सावधानियां बरतनी चाहिए वैसा नहीं दिख रहा है। दोस्तों 31 मार्च तक घरो में बंद रहना आसान काम नहीं है। मैं यह भी सोच रहा था की जो दिहाड़ी मजदूर काम करते है और रात का खाना दिनभर की मजदूरी की कमाई से बनता है उनका क्या होगा? फ्लाईओवर के नीचे फुटपाथ पर रहने वाले भिखारियों का क्या ? फैक्ट्रियों में काम करने वाले मजदूरों का क्या? कॉन्ट्रैक्ट पर काम करने वाले कर्मचारियों का क्या? व्यापारियों को होने वाले नुकसान का क्या? ऐसे कई सारे सवाल, कई सारी दिक्कतें हमारे सामने हैं।

मुझे यकीन है सरकार और हम सब मिलके इन परेशानियों पर कुछ ना कुछ हल जरूर निकाल लेंगे। लेकिन जरा सोचिए अगर हमने कोरोना (COVID 19) के प्रादुर्भाव को रोकने के दिशानिर्देशों का पालन नहीं किया तो क्या होगा? एक चिकित्सक होने के नाते मैं आपके सामने कुछ तथ्य रखना चाहता हूं।

विदेशों से प्राप्त जानकारी के अध्ययन के अनुसार कोरोना से होने वाला मृत्यु दर 1 से 10 प्रतिशत है। इसका मतलब 100 में से ज्यादा से ज्यादा 10 मरीजों की मृत्यु होना तय है। वह भी आधुनिक चिकित्सा और पर्याप्त अस्पतालों की सुविधा होने पर। भारत में यह बीमारी स्टेज 2 से स्टेज 3 की तरफ बढ़ रही है। मृत्यु दर के मामले में हमने विदेश के मुकाबले अभी तक विजय पाई है। परंतु आने वाले 4 से 6 हफ्ते इस विषाणु का असली परिणाम भारत में दिखाएंगे। कई सारे लोगों का मानना है की सरकार एवं चिकित्सक बिना वजह उत्तेजित होकर लोगों को डरा रहे हैं।

दोस्तों इटली, ईरान से हमें सबक लेते हुए इस बीमारी को फैलने से बचाना है। हमारी जनसंख्या को देखते हुए सभी को इलाज मुहैया कराना संभव नहीं है। जरा सोचिए अगर 135 करोड़ की आबादी में 1 लाख लोग भी इस बीमारी की चपेट में आ गए तो क्या हम स्थिति को निपटने के लिए तैयार हैं? क्या हमारे पास पर्याप्त आय सी यू है? वेंटिलेटर हैं? आप सभी को विनती है इस बीमारी की गंभीरता को समझें। अगर हमने कोरोना की लड़ाई जीत ली तो विश्व में एक मिसाल के तौर पर भारतवासियों को देखा जाएगा।

मैं आशावादी हूं कि आम जनता सरकारों के ऊपर अच्छी चिकित्सा प्रणाली के लिए दबाव डालेगी ताकि भविष्य में कोई भी चिकित्सा संबंधी संकट को निपटने के लिए हम पूरी तरह से सक्षम हो सके। दोस्तों अभी इस समय संकट की घड़ी में अपना और अपने देशवासियों का साथ दें। अपने देश के लिए कुछ करें। अपने घरों में रहे। कोरोना को फैलने से रोके। सरकार के दिशा निर्देशों का पालन करें।। जय हिंद।।

Spread the love

Comment here