छत्तीसगढ़

देखिये वीडियो: बीट गार्ड ने जंगल की अवैध कटाई करने पर अपने ही रेंजर के ऊपर की कार्यवाही, रक्षक ही जंगल की करवा रहे अवैध कटाई… डीएफओ ने मीडिया का मोबाइल उठाना किया बंद…. जंगल कटाने में नीचे लेकर ऊपर तक अधिकारियों की मिलीभगत? ईमानदारी की मिलेगी कड़ी सजा? अधिकारियों ने किया तय?

कोरबा, 18 जुलाई 2020। एक निचले स्तर का कर्मचारी अपने ही अधिकारी को चोरी करते पकड़ लेता है और फिर उसके ऊपर कार्यवाही कर देता है आप इस विडिओ को देखकर इस कर्मचारी को साबासी जरूर देंगे,…. लेकिन इसकी ईमानदारी की इसको क्या सजा मिलेगी अभी किसी को पता नहीं है वह भी आपको पता चल जायेगा. ऐसा शायद ही कभी हुआ होगा, जो गुरुवार को कोरबा जिले के वनमंडल कटघोरा में हुआ. कटघोरा वनमंडल के एक बीट गार्ड ने अपने अपने अफसर के खिलाफ ही कार्रवाई कर दी। कटघोरा वनमंडल के इस हैरान कर देने वाले वाकये में रेंजर व डिप्टी रेंजर सहित 11 लोगों पर बीट गार्ड ने अवैध जंगल की कटाई जंगल चोरी के मामले की कार्रवाई की है। जिसका का वीडियो सोशल मीडिया में जमकर वायरल हो रहा है।

दरअसल ये पूरा मामला कटघोरा वनमंडल में बांस की अवैध कटाई का है। प्राप्त जानकारी के अनुसार अवैध कटाई को लेकर बांकीमोंगरा हल्दीबाड़ी क्षेत्र के बीट गार्ड और रेंजर आमने-सामने आ गये। अवैध कटाई करते बीट गार्ड ने रेंजर सहित डिप्टी रेंजर और 11 मजदूरों को रंगे हाथों पकड़ लिया, जिसके बाद वन अधिनियम के तहत सभी पर मामला बना दिया गया।

मिली जानकारी के मुताबिक कटघोरा परिक्षेत्र के रेंजर मृत्युंजय सिंह द्वारा 16 जुलाई को हल्दीबाड़ी स्थिति बांस बाड़ी में 11 मजदूरों को लाकर 353 नग बांस की कटाई करवा दी गई। बांस की कटाई के वक़्त वहां का बीट गार्ड शेखर रात्रे विभागीय आदेश पर मरवाही ट्री गार्ड लेने गया हुआ था। आज सुबह जब शेखर रात्रे वापस अपने कार्य स्थल पर पहुंचा तो मौके पर बांस की कटाई के लिए मजदूर बांस बाड़ी में पहुचे हुए थे। बिना किसी वैधानिक आदेश के बांस की कटाई किये जाने को लेकर बीट गार्ड गुस्से में आ गया और उसने पहले तो मौके पर मौजूद मजदूरों से कुल्हाड़ी जप्त कर वन अधिनियम के तहत मामला बनाया गया

डीएफओ के कहने पर हो रही थी अवैध कटाई?
जिस रेंजर मृत्युंजय सिंह के संरक्षण में बांस कटाई ही रही उसके साथ बीत गार्ड की जमकर जमकर बहस हो गयी। बीट गार्ड शेखर रात्रे ने रेंजर से जब बांस कटाई करने की जानकारी चाही गई तो रेंजर ने DFO के कहने पर बांस की विभागीय कार्य के लिए बांस की कटाई किये जाने की जानकारी दी गई। लेकिन लिखित आदेश मांगे जाने पर रेंजर मृत्युंजय सिंह बीट गार्ड को कुछ भी नही दिखा सके। बस फिर क्या था बीट गार्ड शेखर ने रेंजर मृत्युंजय सिंह को भी अवैध बांस कटाई करने का आरोपी बना दिया गया। पंचनामा में हस्ताक्षर करने को लेकर बीट गार्ड और रेंजर के बीच जमकर तू-तू मैं मैं हो गया।

डीएफओ ने मोबाइल उठाना किया बंद
सोशल मीडिया में अवैध कटाई का विडिओ वायरल होने और रेंजर द्वारा डीएफओ के कहे जाने पर कटाई की बात विडिओ में कहने के बाद डीएफओ कटघोरा DFO समा फारुखी से एसजी न्यूज़ ने जानकारी चाही तो तो उनके मोबाइल पर रिंग बजता रहा, लेकिन DFO में कॉल रिसीव नहीं किया। अन्य मीडिया के लोगो का फ़ोन नहीं उठाया।

मामला कुछ और… अनिल सोनी सीसीएफ
एसजी न्यूज़ को सीसीएफ बिलासपुर अनिल सोनी ने बताया कि विडिओ में जैसा दिख रहा है वैसा नहीं है जांच के बाद कार्यवाही होगी।

मामले की जाँच के बाद कार्यवाही : राकेश चतुर्वेदी,पीसीएफ, छत्तीसगढ़
एसजी न्यूज़ ने पीसीएफ राकेश चतुर्वेदी से मामले जानकारी चाही गई उन्होंने कहा डीएफओ को जाँच के लिए कहा गया है जाँच के बाद कारयवाही की जाएगी, हालाँकि वे डीएफओ और रेंजर का बचाव करते नजर आये, कहा पहले भी बीट गार्ड की शिकायत आयी है वह बत्तमीज है. ड्यूटी पर नहीं रहता है.

कार्यवाही ईमानदारी पर होगी यह तय: विभागीय सूत्र
विभागीय सूत्रों की माने तो वन विभाग अपनी पोल खुलने के बाद बीट गार्ड को दोसी बनाने की पूरी प्लानिंग कर चुका है सभी रिपोर्ट जल्द बनाकर पेश कर दी जाएगी, जिसमे कार्यवाही करने वाले बीट गार्ड के ऊपर कार्यवाही होना लगभग तय है. हालाँकि विभाग की रिपोर्ट आने तक इन्तजार करना होगा की गाज किस पर गिरती है.

Spread the love