बड़ी खबर

Beraking News: कोरोना वायरस के चलते एक राज्य की सरकार का बड़ा कदम, जनता को अगले 6 महीने मुफ्त मिलेंगे गेहूं-चावल…….प्रायवेट और सरकारी दफ्तरों में सिर्फ 50 फीसदी ही कर्मचारी करेंगे काम तो दूसरी तरफ 1-8 कक्षा तक बिना परीक्षा के छात्रों को पास करने का किया ऐलान। …… क्या है पूरी खबर

सांकेतिक फोटो

कोलकाता/मुंबई, 20 मार्च 2020. कोरोना वायरस को लेकर राज्य सरकारे लगातार कदम उठा रही हैं. देशभर में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है. ऐसे में सभी राज्य सरकारें सतर्कता बरत रही हैं. इसी के मद्देनजर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने नया आदेश जारी किया है. ममता ने कहा कि सरकारी दफ्तरों में सिर्फ 50 फीसदी ही कर्मचारी काम करेंगे. साथ ही प्राइवेट सेक्टर को भी यह नीति अपनानी होगी. इसके अलावा ममता ने अगले 6 महीने तक राज्य में चावल और गेहूं मुफ्त बांटने का ऐलान किया है.

दरअसल, पशिम बंगाल में अभी तक 7.5 करोड़ से अधिक लाभार्थियों को कोरोना वायरस के चलते ममता सरकार ने ऐलान किया कि अगले छह महीने तक सभी लाभार्थियों को चावल और गेहूं मुफ्त बांटे जाएंगे. ममता ने कहा कि इस वायरस से बचने के लिए सभी अहम कदम उठाए जा रहे हैं. विदेश से आने वाले लोगों पर निगरानी रखी जा रही है. परीक्षण किटों की कमी है, हमने केंद्र सरकार से अनुरोध किया है कि जांच किट और भेजी जाएं.

महाराष्ट्र में बिना परीक्षा दिए पास होंगे छात्र
कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र के चार शहरों में लॉकडाउन का फैसला लिया गया है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने घोषणा की है कि मुंबई समेत इन चार शहरों में 31 मार्च तक सभी दफ्तर और अहम प्रतिष्ठान बंद रहेंगे। राज्य में कोरोना वायरस के अब तक 52 मामले सामने आए हैं।

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के चलते महाराष्ट्र सरकार ने एक और बड़ा फैलसा लिया है। स्कूलों में परीक्षा की तारीख स्थगित होने के बाद अब बिना परीक्षा के अगली कक्षा में भेज दिए जाने का आदेश जारी किया गया है। महाराष्ट्र के शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ द्वारा जारी आदेश के अनुसार कक्षा 1 से 8 तक की सभी परीक्षाओं के रद्द होने के बाद अब सभी छात्रों को बिना परीक्षा के अगली कक्षा में भेज दिया जाएगा।

हालांकि लॉकडाउन के दौरान बैंक सेवाएं खुली रहेंगी। साथ ही मेडिकल सेवाएं भी निर्बाध रूप से मुहैया कराई जाएंगी। महाराष्ट्र की शिक्षा मंत्री ने कहा है कि कक्षा 1 से 8 तक की परीक्षाएं रद्द कर दी गई हैं और बिना परीक्षा के ही छात्रों को अगली क्लास में प्रमोट किया जाएगा।

Spread the love

Comment here