छत्तीसगढ़

CM बनने के बाद पहली बार पाटन पहुंचे भूपेश बघेल, रोड शो में जनसैलाब उमड़ा, मंत्रिमंडल को लेकर बोले- “सभी को संतुष्ट करना बहुत कठिन”

रायपुर। मुख्यमंत्री बनने के बाद भूपेश बघेल आज पहली बार पाटन पहुंचे, तो कार्यकर्ताओं ने जमकर स्वागत किया। महादेव घाट स्थित हटकेश्वर नाथ के दर्शन करने के साथ शुरू हुआ भूपेश बघेल का रोड शो पाटन तक चलता रहा। इस दौरान सड़कों के दोनों ओर सैकड़ों की तादात में लोगों की भीड़ उमड़ी। प्रदेश अध्यक्ष की हैसियत से भूपेश बघेल ने अपनी विधानसभा पाटन में बेहद ही कम वक्त दिया था। बघेल ने कहा था कि पाटन से चुनाव मैं नहीं बल्कि कांग्रेस का हर कार्यकर्ता लड़ रहा है। ऐसा हुआ भी। बेहद ही कम वक्त देने के बावजूद भूपेश बघेल ने पाटन में रिकार्ड मतों से जीत दर्ज की थी। बघेल पाटन की जनता को धन्यवाद देने ही आज रोड शो पर निकले थे। भूपेश बघेल ने रोड शो के दौरान बातचीत में कहा कि- जिस जनता और कार्यकर्ताओं की बदौलत मैं चुनाव जीता हूं, उन्हें धन्यवाद देने आया हूं।

मंत्रीमंडल में सबको नहीं लिया जा सकता, सबको संतुष्ट करना भी मुश्किल- बघेल

राजधानी के पुलिस ग्राउंड में मंगलवार को भूपेश मंत्रीमंडल का शपथ होना है। मंत्रीमंडल में किन चेहरों को शामिल किया जाएगा? और किन्हें छोड़ जाएगा। इसे लेकर गहमागहमी का दौर है। कोई भी यह बता पाने में अभी असमर्थ है कि मंत्रीमंडल के चेहरे कौन होंगे? दिल्ली में राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी से हुई भूपेश बघेल की मुलाकात के बाद जो लिफाफा बनाया गया है, उसे शपथग्रहण के चंद घंटों के पहले ही खोला जाएगा। इस लिफाफा के खुलने के पहले तक नेताओं के दिलों की धड़कने बढ़ी हुई हैं। मंत्रीमंडल के सवाल पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने चुप्पी साध ली। इतना जरूर कहा कि कल सारी तस्वीर साफ हो जाएगी। उन्होंने कहा कि संवैधानिक बाध्यता है कि मंत्रीमंडल में 13 से ज्यादा लोगों को शामिल नहीं किया जा सकता, जिन लोगों को लिया जाएगा वे काबिल लोग होंगे, लेकिन इसका मतलब यह नहीं होगा कि जिन्हें नहीं लिया जाएगा वह काबिल नहीं है। सबको मिलजुलकर सरकार चलाना है। बघेल ने कहा कि सबको संतुष्ट करना भी मुश्किल है।


पनामा पेपर मामले की जांच होगी

इधर पूर्व मुख्यमंत्री डा.रमन सिंह के सांसद बेटे अभिषेक सिंह का नाम पनामा पेपर लीक में सामने आने के मामले में भूपेश सरकार ने जांच के आदेश दिए हैं। इसे लेकर मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि पनामा पेपर मामले को लेकर हम लगातार शिकायत करते रहे हैं, लेकिन इस दिशा में कभी किसी तरह की जांच नहीं की गई। हमारे पूर्व मुख्यमंत्री के घर के पते पर आखिर कोई खाता कैसे खोल सकता है? ये बेहद गंभीर मामला है, लिहाजा इसकी जांच होगी।

Spread the love