April 16, 2021

Suyashgram.com

मासिक पत्रिका एवं वेब न्यूज़ पोर्टल

सांकेतिक फोटो

Breaking News: कोरोना संक्रमित व्यक्ति की मृत्यु होने पर अंतिम संस्कार होगा उसी शहर की सीमा में..दिशा निर्देश जारी..

भोपाल, 15-अप्रैल-2020,  कलेक्टर तरूण पिथोड़े ने जिला भोपाल में किसी कोरोना संक्रमित व्यक्ति की मृत्यु होने की स्थिति में जिला भोपाल की सीमाओं के भीतर ही शासन द्वारा जारी दिशा निर्देशों के अनुसार मृत शरीर के प्रबंधन एवं निपटान संबंधी कार्यवाही करने के आदेश जारी किए हैं। 

कलेक्टर के अनुसार यह सुनिश्चित किया जाएगा कि कोई भी मृत शरीर को अन्यत्र जिले या राज्य से भोपाल जिले में प्रवेश देने या भोपाल जिले से बाहर अन्यत्र जिले या राज्य में ले जाने की अनुमति देने से पूर्व यह प्रमाणित किया जाए कि मृत शरीर कोरोना पॉजिटिव तो नहीं है। संक्रमित पाए जाने की स्थिति में मृत शरीर को अन्यत्र जिले /गृह जिले/ शहरी सीमा जहां संक्रमित व्यक्ति की मृत्यु हुई है, वहां से बाहर ले जाने की अनुमति प्रदान नहीं की जाएगी या प्रदान की हुई अनुमति स्वतः निरस्त मानी जाएगी।

उल्लेखनीय है कि आयुक्त, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग एवं संयुक्त संचालक, अस्पताल प्रशासन संचनालय स्वास्थ्य सेवाएं, मध्यप्रदेश के द्वारा पूर्व में जारी दिशा-निर्देशों में कोविड-19 कोरोना वायरस संक्रमित व्यक्ति की मृत्यु उपरांत मृत शरीर का अंतिम संस्कार मृत स्थान शहरी की सीमा में ही किया जाना सुनिश्चित किया जाए जिससे मृत शरीर से होने वाले संक्रमण को रोका जा सके। किसी भी स्थिति में मृत शरीर को अन्यत्र जिले/ गृह जिले /शहरी सीमा जहां संक्रमित व्यक्ति की मृत्यु हुई है बाहर ले जाने की अनुमति प्रदान नहीं की जाए। इसके साथ  ही कोरोना संदिग्ध/पुष्ट प्रकरण में मृत्यु होने पर मृतक के शव का प्रबंधन एवं निपटान संबंधी दिशा-निर्देश भी जारी किए गए हैं।

कलेक्टर ने सभी शासकीय और निजी अस्पतालों के अधीक्षकों /संचालको को भी आदेशित किया है कि मृत शरीर को परिजन को सौंपने के पूर्व उपरोक्त विषय हेतु तदाशय आशय का प्रमाण पत्र अनिवार्य दे ताकि मृत शरीर से होने वाले संक्रमण को रोका जा सके। अगर कोविड-19 सैंपल रिजल्ट आने से पहले किसी संदिग्ध की मृत्यु हो जाती है तो रिजल्ट आने तक मर्चुरी में शव का प्रबंधन किया जाए या उपरोक्त कोविड-19 शव प्रबंधन दिशा-निर्देशों को कड़ाई से पालन करते हुए मृत शरीर की अंतिम संस्कार हो एवं परिजनों को भी उक्त दिशा-निर्देशों से अनिवर्यात अवगत कराए जाएं और इन निर्देशों का पालन सुनिश्चित कराया जाए।

Spread the love