छत्तीसगढ़

करोना वायरस के बंद के चलते पेट शॉप में बंद हुए पक्षियों और जानवरों की जान पर बन आई…. इंसान तो ठीक मूक जानवरों की कौन बचाएगा जान? बंद दुकानों में चीख कर मांग रहे जीवन की भीख….

रायपुर, 30 मार्च 2020, राजधानी रायपुर में पिछले 9 दिनों से जारी करोना वायरस के बंद के चलते पेट शॉप में बंद हुए पक्षियों और जानवरों की जान पर बन आई है. उन्हें खाने-पीने की समस्या हो रही है. रायपुर शहर में ही लगभग 40 पेट शॉप है इसके अलावा भिलाई दुर्ग बिलासपुर रायगढ़ इत्यादि शहरों में भी पेट शॉप हैं इन दुकानों में पिछले 9 दिनों से विभिन्न प्रकार के जानवर और चिड़ियां बंद है.

दिनांक 29 मार्च शाम को बनाया गया आश्रम रायपुर स्थित पेट शॉप की दुकान का वीडियो शेयर करते हुए जानवरों के लिए कार्यरत वाटिका एनिमल सेंचुरी की संचालिका कस्तूरी बल्लाल ने बताया कि आश्रम में स्थित एक पेट शॉप के अंदर से चिड़ियों की आवाजें आ रही थी. लगातार अंधेरे में रहने से खाने-पीने की कमी के कारण ये मूक प्राणी अवसाद में जाकर तथा भय के कारण मर सकते हैं बहुत ज्यादा पास पास रखने के कारण भी बीमारियां हो सकती है. विशेष रूप से चिड़ियाओं की देखभाल ज्यादा करनी पड़ती है. गर्मी बढ़ने के साथ साथ उन्हें बार-बार पानी पिलाया जाना होता है.

उन्होंने बताया कि मुंबई इंदौर सहित पूरे देश में पेट शॉप को एनिमल वेलफेयर बोर्ड ऑफ इंडिया के आदेश उपरांत खाली करवाया गया है. गौरतलब है कि एनिमल वेलफेयर बोर्ड ऑफ इंडिया ने दिनांक 24 मार्च को पूरे देश के मुख्य सचिवों को पत्र लिखकर जिला प्रशासन के सहयोग से पेट शॉप खाली करवाने के आदेश जारी किए हैं. बल्लाल के अनुसार पेट शॉप मालिकों को पशु पक्षियों को अपने घर ले जाकर उचित देखभाल करनी चाहिए और दुकानें खाली कराने के साथ साथ एनिमल हसबेंडरी विभाग के वेटरनरी सर्जन से पक्षियों और पशुओं के स्वास्थ की जांच भी कराना उचित होगा.

Spread the love

Comment here