छत्तीसगढ़

“डॉक्टर को कोरोना का संदिग्ध पाया गया”- ऐसी अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ पुलिस में एफआईआर हुईं दर्ज…साइबर क्राइम ब्रांच ढूंढ रही आरोपियों को..

जांजगीर चांपा/अकलतरा, 19 अप्रैल 2020. कोरोना वायरस को लेकर जहां पूरे देश प्रदेश में लोग डरे हुए हैं वही कुछ शरारती तत्व अपनी रंजिश के कारण गलत अफवाह फैला कर लोगों को ना केवल डरा रहे बल्कि समाज में डॉक्टरों की छवि को भी धूमिल कर रहे हैं.

ऐसा ही एक मामला जांजगीर जिले के अकलतरा क्षेत्र का है जहां डॉक्टर आदित्य नारायण गुइन, एमएस सर्जन, को लेकर क्षेत्र में अफवाह फैलाई गई कि डॉक्टर विदेश से आए हैं, और उन्हें कोरोना का संदिग्ध पाया गया है. जिसे पुलिस उठाकर ले गई है. जो भी वहां पर दवा कराएं हैँ उनको सैनिटाइज की व्यवस्था करें.

वायरल मैसेज

हकीकत जबकि यह है कि डॉक्टर विदेश गए ही नहीं थे और ना ही कोई करोना का संदिग्ध पाया गया ना कोई पुलिस लेकर गई थी. ऐसे में डॉक्टर ने शरारती तत्वों के खिलाफ अकलतरा थाने में एफआईआर दर्ज कराई. एसपी ने संज्ञान में लेते हुए तत्काल एफआईआर दर्ज करने के निर्देश थाना प्रभारी को दिए.

आरोपियों के खिलाफ अपराध क्र० 0067/20  धारा  469 – IPC,505 – IPC,188 – IPC  थाना अकलतरा , जांजगीर चाम्‍पा  में दि० 18/04/2020, समय 20:55 बजे पंजीबद्ध क्या है साइबर क्राइम ऐसे आरोपियों को जल्द ही खोजेगी जिन्होंने इस तरह की हरकत की है.

यह भी आशंका जताई जा रही है कि कुछ लोग डॉक्टर के पिता की क्लीनिक/अस्पताल से दुश्मनी होने की वजह से इस तरह की हरकतें की होंगी. ऐसे में कई झोलाछाप डॉक्टर शक के दायरे में हैँ. इसके साथ है सन्देश में ksk प्लांट का नाम लिखा है जिससे प्लांट के कई कर्मचारी भी शक के घेरे में हैँ जिन्होंने ऐसी हरकत की होंगी. यथा स्थिति का पता तो आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद ही चलेगा.

Spread the love

Comment here