छत्तीसगढ़

धरमजयगढ़ में मृत मिला हाथी गणेश ही निकला, एडिशनल पीसीसीएफ अरुण पाण्डेय ने इन बिन्दुओ के आधार पर की पुष्टि…देखिये शानदार हाथी गणेश का जीवित समय का विडिओ.

रायगढ़/रायपुर, 19 जून 2020। रायगढ़ के धरमजयगढ़ में बेहरामार गांव के पास गुरुवार को मिला मृत हाथी गणेश ही निकला है।

ज्ञात डीएफओ प्रियंका ने दो अलग अलग विडिओ जारी कर पहले कहा यह गणेश हाथी है उसके बाद कहा यह गणेश हाथी नहीं है. घटना स्थल पर स्वयं पीसीसीएफ वाइल्ड लाइफ अतुल शुक्ला मौजूद थे. दो दिनों तक गणेश हाथी को पहचानने की जद्दोजहद चलती रही.

एपीसीसीएफ वाइल्ड लाइफ अरुण पाण्डेय घटना स्थल पहुंच कर गणेश हाथी की फ़ाइल निकलवाकर बिंदुवार मृत हाथी और गणेश हाथी की हिस्ट्री से मिलान किया और अंततः इस निष्कर्ष में पहुचे की मृत हाथी गणेश ही है.

एडिशनल पीसीसीएफ अरुण पांडे ने बताया कि मृत हाथी के रेडियो कॉलर आईडी पहनाए जाने के निशान गले में मिला है। ट्रेंकुलाइज के दौरान पैर में बांधे गए जंजीर के भी निशान मिले हैं। बांया दांत का मिलान किए जाने पर गणेश हाथी का ही निकला है। सूंड की लंबाई भी गणेश की ही निकली है।

बता दें कि करीब 1 माह पहले रेडियो कॉलर आईडी गिर गई थी ,उसके बाद गणेश को फिर से ट्रेंकुलाइज कर आईडी बनाए जाने का निर्णय लिया गया था। पिछले 2 साल में इस गणेश हाथी कोरबा और रायगढ़ क्षेत्र में लगातर विचरण कर रहा था अपने डाल से अलग हो गया था। हाथी अक्सर कटहल खाने आ धमकते थे इससे परेशान होकर एक ग्रामीण पतिराम ने कटहल के पेड़ पर करंट लगा दिया। इसकी चपेट में आने से गणेश की मौत हो गई । पुलिस पहले ही आरोपित ग्रामीण को गिरफ्तार कर चुकी है।

इन बिन्दुओ के आधार पर की गयी गणेश की पहचान:

1. 2 बराबर के दांत
2. बाएं दांत में कुंज
3. दाएं कान में एक होल
4. चेन लगाने से सामने के पांव में हुए घाव.
5. निशान कॉलर आईडी का निशान
उक्त आधार पर निष्कर्ष निकाला गया कि यह गणेश है.

गणेश का आखिरी जीवित रहते समय का विडिओ : क्या शानदार हाथी था

Spread the love