छत्तीसगढ़

सरकार ने बढ़ाया मनरेगा श्रमिकों की मजदूरी…. एक अप्रेल से होगी नई दर लागू ….. जानिए कितना पड़ेगा फर्क…..

रायपुर. 25 मार्च 2020. महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (महात्मा गांधी नरेगा) के तहत वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए नई मजदूरी दर लागू कर दी गई है। अब प्रत्येक दिवस कार्य करने पर महिला व पुरुष श्रमिकों को समान रुप से मजदूरी के रूप में 190 रुपये मिलेंगे। भारत सरकार, ग्रामीण विकास मंत्रालय, नई दिल्ली ने प्रदेश में महात्मा गांधी नरेगा श्रमिकों के लिए मजदूरी की धनराशि में 14 रुपये का इजाफा किया है। पहले ये धनराशि 176 रुपये प्रतिदिन थी। एक अप्रैल से श्रमिकों को बढ़ी हुई दरों पर भुगतान किया जाएगा।

महात्मा गांधी नरेगा अंतर्गत अब जो भी कार्य वित्तीय वर्षः 2020-21 में मैदानी स्तर पर क्रियान्वित किया जाएगा, उसके तकनीकी प्राक्कलन (स्टीमेट) अब बढ़ी हुई नयी मजदूरी दर 190 रूपए के हिसाब से बनेंगे।

बढ़ी हुई मजदूरी से मनरेगा में 100 दिन काम करने वाले श्रमिक परिवार को साल में 1400.00 रुपये का सीधा फ़ायदा होगा। वहीं योजना अंतर्गत राज्य सरकार से मिल रहे अतिरिक्त 50 दिनों के रोजगार का फ़ायदा भी होगा।

पहले- FY: 2019-20 :: ₹ 176.00 x 100 days = ₹ 17,600.00
अब- FY: 2010-21 :: ₹ 190.00 x 100 days = ₹ 19,000.00

ज्ञातव्य हो कि प्रदेश में योजनांतर्गत प्रारंभ से लेकर अब तक दैनिक मजदूरी दर इस प्रकार रही है- वर्ष एक दिसम्बर 2006 से 62.63 रूपए, एक मई 2007 से 66.70 रूपए, एक नवम्बर 2007 से 69 रूपए, एक अप्रैल 2008 से 72.23 रूपए, एक अक्टूबर 2008 से 75 रूपए, एक अक्टूबर 2009 से 83.73 रूपए, चार जनवरी 2010 से 100 रूपए, एक जनवरी 2011 से 122 रूपए, एक जनवरी 2012 से 132 रूपए, एक अप्रैल 2013 से 146 रूपए, एक अप्रैल 2014 से 157 रूपए, एक अप्रैल 2015 से 159 रूपए, एक अप्रैल 2016 से 167 रूपए, एक अप्रैल 2017 से 172 रूपए, एक अप्रैल 2018 से 174 रूपए और एक अप्रेल 2019 से 176 रुपये है, जो 31 मार्च 2020 तक प्रभावशील रहेगी।

Spread the love

Comment here