June 20, 2021

Suyashgram.com

मासिक पत्रिका एवं वेब न्यूज़ पोर्टल

कोरोनाकाल में मध्यप्रदेश के 19000 संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर, स्वास्थ्य विभाग की हालत ख़राब , शिवराज पर वादा खिलाफी का आरोप

भोपाल, 26 मई 2021। कोरोनाकाल मे जहां पूरे देश मे हाहाकार मचा हुआ है। देश-प्रदेश का स्वास्थ्य अमला अपनी जान पर खेलकर लोगो की जान बचाने का काम कर रहे हैं तो वही मध्यप्रदेश के 19000 संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों ने हड़ताल का रुख अपना लिया है। जिसके कारण मध्य प्रदेश मे वैक्सीनेशन, टीकाकरण समेत कई अभियान ठहर से गए हैं। ग्रामीण स्वास्थ्य व्यवस्था चर्ममरा गई है। हड़ताली कर्मचारी लगातार शिवराज सरकार को चेताते रहे लेकिन सरकार ने कर्मचारियो की नही सुनी , जिसका खमियाजा मध्यप्रदेश की जनता को भुगतना पड रहा है। संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियो के हड़ताल पर जाने से विभाग के अधिकारियों तथा जनप्रतिनिधियों ने उनकी मांगों को मानने के लिये सरकार को पत्र भी लिखा है। तो वही आन्दोलन के दूसरे दिन कर्मचारियों ने बढ चढ़कर हिस्सा लिया।

पिछ्ले एक साल में कोरोना से दो- दो हाथ करने वाले संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी आखिर क्यो हड़ताल का रुख अपनाया-

मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार ने जून 2018 मे संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियो को नियमित कर्मचारी के समकक्ष 90 प्रतिशत वेतन तथा अन्य सुविधा देने के प्रस्ताव पर मुहर लगा दी, जिसके लिये सामान्य प्रशासन विभाग ने आदेश जारी कर वित्त विभाग मे अनुमोदन के लिये प्रस्ताव भेजा दिया। लेकिन 3 साल बीत जाने के बाद भी वित्त विभाग ने अभी तक फाइल वापस नही लौटाया जिसके कारण संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी अभी भी लाभ से वंचित हैं। हालाकि इस दरम्यान कर्मचारियो ने कई दफा आवेदन देकर तथा सांकेतिक धरना देकर सरकार का ध्यान आकर्षित किया। लेकिन शिवराज सरकार अपने वादे से मुकरती नजर आई।
कोरोनाकाल के दौरान भी संगठन के पदाधिकारियों मे शासन प्रसाशन को पत्र के माध्यम से सूचित किया लेकिन सरकार की ओर से कोई सुनवाई ना होते देख कर्मचारियों ने हड़ताल का रुख अपना लिया।

कांग्रेस ने राज्यपाल से हस्तक्षेप करने की माँग की-

कुनाल चौधरी ने पत्र लिखकर इस पूरे मामले मे राज्यपाल से हस्तक्षेप करने की मांग की है। चौधरी ने कहा इस पूरे घटनाक्रम के लिये राज्य सरकार का जिद्दी रवैया जिम्मेदार है। सरकार प्रदेश की जनता को स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराने मे नाकामयाब है।

Spread the love

You may have missed