छत्तीसगढ़

कोविड 19, मकान मालिक किराया न मांगे और मकान खाली करने हेतु किरायेदारों को परेशान न करें- कलेक्टर

बालोद/कवर्धा, 29 मार्च 2020, बालोद कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्रीमती रानू साहू ने आदेश जारी कर कहा है कि कोरोना वायरस के प्रसार की रोकथाम हेतु दण्ड प्रक्रिया संहिता, 1973 की धारा 144 के अधीन आदेश प्रसारित किए गए हैं। जिले में कई दैनिक मजदूरी में संलग्न लोगों के द्वारा लगातार समस्याओं से अवगत कराया जा रहा है कि मकान मालिक द्वारा किराया मंागा जा रहा है और नहीं देने पर मकान खाली करने हेतु परेशान किया जा रहा है।
कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी ने उक्त तथ्यों को ध्यान में रखते हुए आदेश जारी किया है कि कोई भी मकान मालिक आगामी आदेश तक किराया न मंागे और न किरायेदार को परेशान करे। किसी भी स्थिति में मकान खाली करने की धमकी, दबाव न डालें। मकान मालिक द्वारा किराया मंागकर परेशान करने पर अपने क्षेत्र के अनुविभागीय दण्डाधिकारी को सूचना दें। आदेश का उल्लंघन, पालन न करने पर मकान मालिक के उपर जुर्माना, दण्ड अधिरोपित किया जा सकता है। दण्ड राशि दस हजार रूपए तक हो सकता है। यह आदेश तत्काल प्रभावशील होगा।

कवर्धा कलेक्टर ने भवन स्वामी के लिए जारी किए आदेश – कोई भी मकान मालिक द्वारा आगामी आदेश तक किराया नहीं मांगा जाएगा और ना ही किराएंदारों को परेशान करेंगे

कवर्धा कलेक्टर अवनीश कुमार शरण ने कोरोना वायरस कोविड-19 महामारी के कारण उत्पन्न परिस्थितियों को दृष्टिगत करते हुए राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 में निहित प्रावधानों के अंतर्गत प्रदत्त शक्तियों के तहत आगामी आदेश तक किराए में रह रहे किराएंदारों को राहत पहुंचाने के लिए आदेश जारी किया है। आदेश में कहा गया है कि कोई भी मकान मालिक द्वारा आगामी आदेश तक किराया नहीं मांगा जाएगा और ना ही किराएदारांे को परेशान करेंगे। किसी भी स्थिति में मकान खाली करने की धमकी या दवाब ना डालने के लिए कहा गया है। मकान मालिक द्वारा किराया मांगकर परेशान करने पर क्षेत्र के अनुविभागीय दण्डाधिकारी को मैसेज या दूरभाष पर सुचित कर सकते है। यदि जिले में किसी भवन स्वामी द्वारा उक्त आदेश का उल्लंघन किया जाएगा तो राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 51 के तहत दण्डात्मक कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी,जिसमें एक वर्ष तक की सजा या अर्थदण्ड या दोनों हो सकता है। और यदि आदेश के उल्लघन से किसी भी तरह की जान-माल की क्षति होती तो यह सजा दो वर्ष तक भी हो सकती है। यदि किसी भवन स्वामी द्वारा उक्त आदेश का उल्लंघन किया जाता है तो प्रभावित व्यक्ति द्वारा इसकी सूचना जिला के कंस्ट्रोल रूप दूरभाष क्रमांक 07741- 232609 पर दी जा सकती है। यह आदेश संपूर्ण कबीरधाम जिले में तत्काल प्रभाव से लागू होंगे।

Spread the love

Comment here