बड़ी खबरविविध

लॉक डाउन की आर्थिक तंगी से देश के सबसे अमीर मंदिर भगवान तिरुपति बालाजी संकट में, 21 हजार कर्मचारियों की सैलरी पर संकट… लॉकडाउन में 400 करोड़ का नुकसान….

तिरुपति, 12 मई 2020. लॉक डाउन में आर्थिक मंदी में इंसान क्या भगवन का घर भी अछूता नहीं रहा. देश सबसे अमीर माना जाने वाला भगवाल तिरुपति बालाजी मंदिर आर्थिक संकट के दौर से गुजर रहा है।

21 हजार कर्मचारियों को समय पर सैलरी देने में परेशानी
तिरुपति बालाजी मंदिर ट्रस्ट इस महीने अपने 21 हजार कर्मचारियों को समय पर सैलरी देने में परेशानी का सामना कर रहा है। कर्मचारियों को इसकी सूचना भी दी जा चुकी है कि सैलेरी काटी या रोकी नहीं जाएगी, लेकिन कुछ समय की देर हो सकती है। ट्रस्ट के पीआरओ टी. रवि के मुताबिक ट्रस्ट में 21 हजार से ज्यादा कर्मचारी हैं। इनमें से आठ हजार कर्मचारी स्थायी नियुक्तियों पर हैं, शेष 13 हजार कर्मचारी कॉन्ट्रैक्ट बेस पर हैं। जिस तरह बाकी संस्थानों को लॉकडाइन के कारण आर्थिक संकट से गुजरना पड़ रहा है,

400 करोड़ के दान का नुकसान
लॉकडाउन के दौरान पिछले 55 दिनों में मंदिर ट्रस्ट को लगभग 400 करोड़ के दान का नुकसान हो चुका है। आंकलन के अनुसार तिरुपति मंदिर को हर महीने लगभग 200 करोड़ रुपए का दान कैश और हुंडियों के जरिए मिलता है। दान में आई गिरावट के कारण ट्रस्ट को अपने दैनिक कामों और खर्चों में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

Spread the love

Comment here