बड़ी खबर

20 लाख करोड़ पैकेज का पार्ट-4: खनन उद्योग में सुधर समेत कई समेत कई बड़े ऐलान किये वित्त मंत्री सीतारमन ने: पढ़िए पूरा भाषण

प्रणय द्विवेदी/योगेश पेंदाम , दिल्ली 16 मई 2020, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 20 लाख करोड़ के राहत पैकेज की चौथी किस्त का ऐलान कर दी है. इस पैकेज में कोयला, रक्षा उत्पाद और खनिज समेत 8 सेक्टरों पर जोर रहेगा दिया गया है. वित्त मंत्री निर्मला सीतरमण ने कहा आत्मनिर्भर भारत के लिए निवेश बढ़ाने के लिए नीतिगत सुधार, हर मंत्रालय में विकास इकाई परियोजना पर काम किया जाएगा। मुख्य बाटे इस प्रकार है:

कोयला क्षेत्र के लिए 50 हजार करोड़ रुपये का फंड, कॉमर्शियल माइनिंग
वित्त मंत्री निर्मला सीतरमण ने कहा हम कोयला क्षेत्र में कॉमर्शियल माइनिंग दी जाएगी. इससे किसानों को फायदा होगा और रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। इस कदम से कोयला क्षेत्र में सुधार की योजना बनी, सही कीमत पर ज्यादा कोयला मिलेगा। कोयला क्षेत्र के लिए 50 हजार करोड़ रुपये का फंड, 50 नए ब्लॉक तत्काल उपलब्ध कराए जाएंगे. बड़े कोल बेड की सरकार नीलामी करेगी। खनिज सेक्टर में विकास की नीति बनेगी, 500 खनिज ब्लॉक नीलामी के लिए उपलब्ध होंगे। अब माइनिंग लीज का ट्रांस्फर हो सकेगा।

रक्षा उत्पादन में एफडीआई को 49 से 74 प्रतिशत तक बढ़ाया जाएगा
वित्त मंत्री निर्मला सीतरमण ने कहा रक्षा उत्पादन में आत्मनिर्भर बनने के लिए मेक इन इंडिया जरूरी। सेना को आधुनिक हथियारों की जरूरत, रक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भर होना है जिससे रक्षा क्षेत्र में निर्यात का खर्च बचाया जा सके. आयात नहीं किए जा सकने वाले उत्पादों की लिस्ट तैयार की जाएगी. ऑटमैटिक रूट के जरिए होने वाले रक्षा उत्पादन में एफडीआई को 49 से 74 प्रतिशत तक बढ़ाया जाएगा। र्डिनेंस फैक्ट्री बोर्ड का कॉरपोरेटाइजेशन होगा. रक्षा क्षेत्र में स्वदेशी हथियारों का बजट अलग होगा। डिफेंस फैक्ट्री बोर्ड का निगमीकरण होगा, आर्डिनेंस फैक्ट्री बोर्ड शेयर बाजार में लिस्ट होंगे।

6 और हवाई अड्डों की तीसरे दौर में होगी नीलामी
वित्त मंत्री निर्मला सीतरमण ने कहा पीपीपी मॉडल से 6 हवाई अड्डों को विकसित किया जाएगा, 6 और हवाई अड्डों की तीसरे दौर में नीलामी होगी। एयरस्पेस बढ़ाकर एक हजार करोड़ रुपये बचाएगी सरकार। वित्त मंत्री निर्मला सीतरमण ने कहा अभी भारत के लिए सिर्फ साठ प्रतिशत एयरस्पेस खुला है. आने वाले सालों में भारत में दुनिया के बड़े इंजन उत्पादक अपनी इंजन रिपेयर फैसिलिटी को भारत लेकर आएंगे जिससे विमानों की देखरेख का खर्च कम हो सके.

केंद्र शासित प्रदेशों में बिजली वितरण का निजीकरण
वित्त मंत्री निर्मला सीतरमण ने कहा केंद्र शासित प्रदेशों में बिजली वितरण का निजीकरण करने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं. इससे पावर सप्लाई में सुधार होगा. बेहतर सर्विसेस को बल मिलेगा, इसे देशभर के लिए एक मॉडल के तौर पर तैयार करेंगे।

सामाजिक बुनियादी ढांचे में निजीकरण
वित्त मंत्री निर्मला सीतरमण ने कहा सामाजिक बुनियादी ढांचे में निजीकरण को बल देने के लिए बदलाव दिया गया है. सामाजिक बुनियादी ढांचे में के लिए 8100 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है.

अंतरिक्ष क्षेत्र में निजी क्षेत्र की भागीदारी
वित्त मंत्री निर्मला सीतरमण ने कहा अंतरिक्ष क्षेत्र में निजी क्षेत्र की भागीदारी बढ़ाने की योजना. ग्रहों की खोज, बाहरी अंतरिक्ष यात्रा का रास्ता खुलेगा।

Spread the love

Comment here