छत्तीसगढ़

राहत शिविरों में रह रहे मजदूर जाना चाहते हैँ अपने घर… प्रबल प्रताप सिंह जूदेव ने कलेक्टर से मुलाक़ात कर कहा, जाने की करें व्यवस्था..

जशपुर, 21 अप्रैल 2020. प्रबल प्रताप सिंह जूदेव और जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती रायमुनी भगत ने जिले के सुदूर ओड़िसा सीमा के लवाकेरा जिला जशपुर छतीसगढ़ राहत कैम्प में निवासरत मजदरों से मुलाकात कर उन्हें आवश्यक सामग्री प्रदान किया और उनसे कर यह जानना चाहा कि राहत कैम्प में वो कैसे है? रहने वालों ने वहां हो रहे तखलिफो को विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि अब यहाँ घुटन हो रही है. हम मजदुर तबके में जीवन यापन करने वाले लोग है, हम यहाँ रुके है, हमारे परिवार के लोग घरों में भूखें मरने के कगार पर खड़े हो गये हैँ. अब और कुछ नहीं रुक सकते.

मजदूरों ने कहा हम शासन के निर्देश को सहर्ष स्वीकार कर 14 दिन से अधिक सेल्फ आइसोलेशन का पालन हम कर चुके है, और हम स्वस्थ है, प्रशासन हमे अपने घर भेजे. इसी संबंध में प्रबल प्रताप सिंह जूदेव के साथ श्रीमती रायमुनी भगत ने जिला कलेक्टर से इस संबंध में विस्तार से बैठक कर संपूर्ण विषयों के तथ्यों को कलेक्टर को अवगत कराया. जिसके बाद कलेक्टर ने बताया कि संबंधित जिले के जिला प्रशासन से बात करके तत्काल उन्हें भेजने की व्यवस्था किया जायेगा, यदि वहां का जिला प्रशासन इनके जाने पर सहमति देता है, तो जशपुर जिला प्रशासन तत्कल इन्हें भेजेगा. दूसरे राज्य जैसे उत्तर प्रदेश एवं मध्य प्रदेश के लोगो को भेजने के लिये वहा के शासन और जिला प्रशासन से भी कलेक्टर नीलेश क्षीरसागर एवं प्रबल प्रताप सिंह जूदेव यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ एवं एम पी के मुख्यमंत्री शिवराज जी से बात करके लाईन अप कर रहे है. जिससे इनके गंतव्य तक तत्कल भेजने संबंधी कदम उठाये जा सके ।

Spread the love

Comment here