छत्तीसगढ़

लॉकडाउन में शराब नहीं मिलने से राजधानी में दो युवको की स्प्रिट पीने से मौत….एक की हालत गंभीर…. पुलिस की जाँच जांच जारी, इधर 425 नग प्रतिबंधित कफ सिरप जब्त, 2 आरोपी गिरफ्तार

सांकेतिक फोटो

रायपुर 1 अप्रैल 2020। लॉक डाउन नशा करने वालों के लिए भी मुसीबत बना हुआ है. बंदी के दौरान शराब नहीं मिलने से शराबी तरह तरह के नशा की खोज कर रहे हैं. लॉकडाउन में राजधानी की शराब दुकानें भी 7 अप्रैल तक के लिए बंद हो गयी है। राजधानी के दो युवकों की मौत हो गयी है। इन दोनों युवकों ने शराब नहीं मिलने पर स्प्रिट की बोतल ही पूरी पी ली, जिसकी वजह से दोनों की अस्पताल में मौत हो गयी, वहीं साथ ही स्प्रिट पीने वाले एक अन्य युवक की हालत गंभीर है। घटना राजधानी के गोलबाजार इलाके का है, जहां बांसटाल इलाके में तीन युवकों ने देर रात पार्टी की। पार्टी के लिए इन्हें शराब नहीं मिली तो तीनों स्प्रिट की बोतल लेकर ही पार्टी मनाने बैठ गये।

वहीँ इस घटना के संबंध में कोतवाली सीएसपी ने जानकारी देते हुये बताया हैं कि अभी युवक के मौत के कारनों का पता नहीं चल पाया है। मृतक के पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारनों का पता चल पायेगा। जांच जारी है और पूछताछ की जा रही है।

इधर 425 नग प्रतिबंधित कफ सिरप जब्त, 2 आरोपी गिरफ्तार

लॉकडाउन के दौरान छत्तीसगढ़ में शराब दुकानें बंद होने पर नशे के कारोबारी सक्रिय हो गए हैं. युवाओं तक अलग-अलग तरह के नशे पहुंचाए जा रहे हैं. सूरजपुर जिला में विगत 29 मार्च और 31 मार्च को 425 नग प्रतिबंधित कफ सिरप जब्त किया गया है. पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

29 मार्च को थाना प्रभारी सनावल द्वारा ग्राम कुरलुडीह के शमशाद अंसारी पिता रफीक अंसारी से 5 नग प्रतिबंधित कफ सिरप एवं दिनांक 31 मार्च को थाना प्रभारी बसंतपुर अनुरंजन लफड़ा द्वारा प्रतापपुर निवासी रामस्वरूप तिवारी पिता अवधेश तिवारी के कब्जे से 420 नग प्रतिबंधित कफ सिरप जप्त कर narcotics drug and psychotropic substance act 1985 के तहत करवाई कर दोनों आरोपियों को न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजा गया है.

Spread the love

Comment here